खेलों में सहभागिता से होता है शारीरिक एवं मानसिक विकास

ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को अवसर देने के लिए सरकार कर रही है प्रयास-कमलेश्वर

By: Manoj Pandey

Updated: 03 Jan 2020, 01:33 PM IST

सीधी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि खेल में हार या जीत से भी अधिक महत्वपूर्ण है उसमें सहभागिता करना। खेलों में सहभागिता से व्यक्ति का शारीरिक एवं मानसिक विकास होता है। ग्रामीण विकास मंत्री जिले के ग्राम पहाड़ी में स्वर्गीय इंद्रजीत कुमार स्मृति क्रिकेट टूनामेंट के शुभारंभ के अवसर पर खेल प्रेमियों को संबोधित कर रहे थे।
पंचायत मंत्री ने कहा कि खेलों का हमारे जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है। खेल हमें वास्तविक जीवन में भी सकारात्मक प्रतिस्पर्धा करने की शक्ति प्रदान करता है। जीवन की चुनौतियों के सामना करने का साहस प्रदान करता है। उन्होने कहा कि खेल हमें अनुशासित भी करता है। खेल को खेल भावना के साथ ही खेलना चाहिए। हर मैच का केवल एक ही विजेता होता है, लेकिन महत्वपूर्ण यह है कि हमने जीत के लिए अपनी पूरी क्षमता से प्रयास किए या नहीं। उन्होने कहा कि क्रिकेट, फुटबाल, कबड्डी जैसे खेल हमें एकजुट रह कर संगठित होकर विजय की ओर अग्रसर होने की सीख देते हैं। ऐसे ही हमें अपने जीवन में भी संगठित होकर समाज एवं देश की बेहतरी के लिए कार्य करना चाहिए।
ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को खेल के क्षेत्र में अवसर प्रदान करने के लिए सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में स्टेडियमों का निर्माण किया जा रहा है जिससे ग्रामीण प्रतिभाओं को अपने हुनर को दिखाने का एक अवसर प्राप्त हो सकेगा। उन्होने कहा कि ऐसे खेलों के कार्यक्रम नियमित होते रहने चाहिए जिससे युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने एवं उनमें सुधार के अवसर मिलते रहें।
खेल के प्रारंभ में पंचायत मंत्री द्वारा दोनो टीमों के प्रतिभागियों से मिलकर अच्छा प्रदर्शन करने की शुभकामनाएं दी गई। इस अवसर पर उपखंड अधिकारी सिहावल आरके सिन्हा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चिंतामणि तिवारी सहित जनप्रतिनिधि एवं खेल प्रेमी उपस्थित रहे।

Manoj Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned