किसानों की माली हालत सुधारने को आगे आई सरकार, शुरू की ये महत्वाकांक्षी योजना

-योजना के तहत एग्रीमेंट के आधार पर स्थाई आमदनी का दावा

By: Ajay Chaturvedi

Published: 30 Aug 2020, 08:19 PM IST

सीधी. पहले से ही बेहाल किसानों की हालत कोरोना और लॉकडाउन में और भी पतली हो गई है। वो लगातार कर्ज के बोझ तले दबे जा रहे हैं। आत्महत्या तक करने की नौबत आ रही है। ऐसे में अन्नदाता की माली हालत को दुरुस्त करने के लिए सरकार ने अब एक नई योजना लांच की है। दावा किया जा रहा है कि इस इस नई योजना के तहत एग्रीमेंट कर स्थाई आमदनी का जरिया हासिल किया जा सकता है।

कहा जा रहा है कि योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को आर्थिक रूप से संपन्न बनाना है। योजना के तहत वे अपने खेत की अन उपजाऊ भूमि पर सोलर संयंत्र की स्थापना कर सकेंगे, जिससे उन्हें नियमित आय हो सकेगी। मध्य प्रदेश की बात करें तो अब तक कुल 910 सब-स्टेशनों पर योजना का प्रथम चरण आरंभ किया जा रहा है। योजना का क्रियान्वयन मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम करेगा। योजना का नाम "पीएम कुसुम ए योजना" दिया गया है।

योजना से जुड़ने के लिए किसानों को ग्रामीण क्षेत्रों के चयनित विद्युत उपकेंद्रों के पास की भूमि पर सौर संयंत्र की स्थापना करनी होगी। इच्छुक किसानों के लिए एक पोर्टल भी शुरू किया गया है। इस पोर्टल के मार्फत किसान ऑनलाइन जुड़ सकते हैं।

नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा व पर्यावरण मंत्री हरदीप सिंह डंग ने मंदसौर में दो दिन पूर्व आयोजित कार्यक्रम में कुसुम ए ऑनलाइन पोर्टल का शुभारंभ किया। इस मौके पर मंत्री डंग ने कहा कि कुसुम ए योजना प्रदेश के लिये अत्यंत महत्वपूर्ण योजना है। उन्होंने किसानों से आव्हान किया कि वे बंजर भूमि का सदुपयोग करने के लिए योजना से जुड़ें।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned