कांग्रेस नेता की वीडियो के बाद अवैध रेत के खिलाफ पुलिस की खुली नींद

कांग्रेस नेता की वीडियो के बाद अवैध रेत के खिलाफ पुलिस की खुली नींद, पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर रेत से लदे १० वाहनों पर की गई कार्रवाई, कांग्रेस नेता ने मंत्री व कलेक्टर पर रेत खदानों से पांच-पांच लाख रूपए लेने का लगाए थे आरोप

सीधी। कांग्रेस नेता की वीडियो वायरल होने के बाद अवैध रेत उत्खनन व परिवहन पर रोक लगाने के लिए पुलिस की भी कुंभकर्णी नींद खुल गई है। कभी कार्यालय से बाहर न निकलने वाले पुलिस अधीक्षक के द्वारा खुद मोर्चा संभालते हुए सड़क पर उतरकर वाहनों की चेकिंग किए, जहां अवैध रेत से लदे दस वाहनों को जप्त कर कार्रवाई की गई। यदि इसी तरह पुलिस की कार्रवाई जारी रही तब हद तक अवैध रेत उत्खनन पर अंकुश लग सकता है।
उल्लेखनीय है कि गत दिवस जिला कांग्रेस कमेटी के महामंत्री भानू पांडेय के द्वारा चुरहट उपखंड अधिकारी के कार्यालय में बैठकर एसडीएम व सोन घडिय़ाल विभाग के डिप्टी रेंजर के समक्ष कलेक्टर व मंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी किए थे, जहां उनके द्वारा आरोप लगाया गया था कि रेत खदानों से कलेक्टर व मंत्री पांच-पांच लाख रूपए ले रहे हैं, हम लोग एक टाली रेत निकाल लें तो कार्रवाई करने से विभाग पीछे नहीं हटता। वहां उपस्थित एक ब्यक्ति के द्वारा इस वार्तालाप की वीडियो तैयार कर वायरल कर दिया गया। जिसको लेकर विपक्षी दल भाजपा ने कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दी। भाजपा संगठन व चुरहट विधायक के द्वारा कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया वहीं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के द्वारा वीडियो ट्यूट करते हुए कमलनाथ से जवाब मागा गया कि कितने कलेक्टर व मंत्रियों को वसूली की छूट दी जा चुकी है। नेता प्रतिपक्ष के ट्वीट के बाद मामला और भी तूल पकड़ लिया गया। कलेक्टर को आनन-फानन मे चुरहट एसडीएम राजेश मेहता को चुरहट से हटाना पड़ा। कांग्रेस नेता के द्वारा रेत को लेकर मंत्री व कलेक्टर पर आरोप लगाया गया था, जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश के बाद पुलिस अधीक्षक आरएस बेलवंशी के द्वारा शनिवार को सोनवर्षा टोल प्लाजा, मझौली सहित अन्य जगहों मे जाकर सड़क पर खड़ा होकर रेत से लदे वाहनों की जांच किए, जहां अवैध रेत परिवहन करते दस वाहनों को जप्त किया गया है।
इधर मंत्रियों के दौरे को लेकर भी सख्ती-
कांग्रेस नेता के द्वारा मंत्री पर रेत खदानों से रूपए लेने का आरोप लगाए हैं, इस बीच जिले के प्रभारी मंत्री प्रदीप जायसवाल व पंचायत ग्रामीण मंत्री कमलेश्वर पटेल का सीधी जिले का दौरा रविवार से ही प्रस्तावित है, जिसको देखते हुए भी प्रशासन के द्वारा अवैध रेत परिवहन पर अंकुश लगाने के लिए सड़क पर उतरी है।
कंप्यूटर बाबा पर भारी पड़े भानू बाबा-
कंप्यूटर बाबा विगत दिवस सीधी जिले मे गोतरा व निधिपुरी मे संचालित रेत खदानों का औचक निरीक्षण किए थे, जहां कई हाइवा व जेसीबी वाहन को भी पकड़ा गया था, किंतु गोल्डन बाबा के इस निरीक्षण के बाद भी पुलिस की कुंभकर्णी निंद्रा नहीं खुली थी, किंतु भानू बाबा का वीडियो क्या वायरल हुआ प्रशासन के माथे पर बल दे दिया, हमेशा कार्यालय मे मौजूद रहने वाले पुलिस अधीक्षक आरएस बेलवंशी को थाना प्रभारियों की तरह सड़क पर उतरकर वाहनों की चेकिंग करनी पड़ी।

op pathak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned