बिना भू-अर्जन निजी आराजी पर बनाई जा रही सार्वजनिक सड़क, पीडि़तों किसानों को नहीं मिला मुआवजा

बिना भू-अर्जन निजी आराजी पर बनाई जा रही सार्वजनिक सड़क, पीडि़तों किसानों को नहीं मिला मुआवजा

Anil Singh Kushwaha | Publish: Jan, 14 2019 07:09:24 PM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

सीधी जिले के ग्राम पंचायत खैरही का मामला, सीएम हेल्पलाइन में दर्ज कराई शिकायत

 

 

सीधी. जिला मुख्यालय के समीपी ग्राम पंचायत खैरही के सोनाखाड़ गांव में निजी आराजी पर सर्वाजनिक सड़क बनाने का मामला प्रकाश में आया है। पीडि़त ने विभागीय अधिकरियों व सीएम हेल्पलाइन तक शिकायत दर्ज कराई, लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई। उसका आरोप है कि सरपंच-सचिव भूमि कब्जाने पर अड़े हैं। शासकीय नियमों का पालन भी नहीं किया जा रहा है। कलेक्टर को सौंपी शिकायत में उसने यह भी बताया कि सड़क निर्माण में मजदूरों की बजाय जेसीबी मशीन का उपयोग किया जा रहा है।

पीडि़त भू-स्वामियों को नहीं मिला मुआवजा
पीडि़त भू स्वामियों में बुटउवा प्रजापति, रामप्रसाद प्रजापति, बृहस्पति, केमला, नारेंद्र व रावेंद्र प्रजापति की मानें तो ग्राम पंचायत की सरपंच ऊषा अशोक सिंह व सचिव कमलनारायण शुक्ला चरकी घाटी से बायपास तक करीब दो किमी सड़क बना रहे हैं। इसके लिए भू स्वामियों की सहमति भी नहीं ली गई है। न ही मुआवजा दिया जा रहा है।

सीएम हेल्पलाइन में दर्ज कराई शिकायत
बुटउवा प्रजापति ने बताया कि मेरे खेत से सड़क बनाई जा रही है। पांच फीट हिस्सा छोड़कर खेत को दो भाग में किया जा रहा है। मैंने कहा कि जो सड़क बनने के बाद मेरे खेत का जो पांच फीट का भाग बचेगा वह किसी काम का नहीं रहेगा। इसके बादले बगल की जमीन भी देने को तैयार नहीं हैं। कहा जा रहा है कि हम अपने हिसाब से ही सड़क का निर्माण करेंगे। पीडि़त किसानों ने बताया कि मामले की शिकायत मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के साथ ही कलेक्टर जनसुनवाई में भी की जा चुकी है, लेकिन हम गरीब किसानों की सुनवाई नहीं हो रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned