रबी का उपार्जन आज से होगा प्रारंभ, 42 केंद्रों में होगी खऱीदी

कलेक्टर चौधरी ने किसानों से की अपील, एसएमएस मिलने पर ही निर्धारित तिथि और समय पर पहुंचे खऱीदी कंेद्र

By: Manoj Pandey

Published: 18 Apr 2020, 10:33 PM IST

सीधी। मध्यप्रदेश में 15 अप्रैल से रबी उपार्जन का कार्य प्रारंभ होने जा रहा है। कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने सभी किसान भाइयों से अपील किया है कि आपको भेजे गए एसएमएस में दी गई तिथि एवं समय पर ही अपना गेहूं लेकर खरीदी कंेद्र पर आएं। कोरोना संकट से निपटने के लिए सभी किसान भाई धैर्य रखें और सहयोग करें। यदि कोई किसान निर्धारित तिथि या समय पर खरीदी कंेद्र में नहीं पहुंच पाता है, तो वह चिंता नहीं करें उन्हें दुबारा अवसर दिया जाएगा।
कलेक्टर चौधरी ने कहा कि 15 अप्रैल से जिले में रबी उपार्जन का कार्य प्रारंभ होने जा रहा है। जिले में सोशल डिस्टैंसिंग को दृष्टिगत रखते हुए खऱीदी केंद्रों की संख्या को बढ़ाकर 42 कर दिया गया है। किसान भाई किसी भी प्रकार की चिंता नहीं करें, सभी पंजीकृत कृषकों से उपार्जन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि एसएमएस प्राप्त होने पर ही किसान निर्धारित समय एवं तिथि पर उपार्जन कंेद्र आएं। कलेक्टर चौधरी ने कृषकों से अपील की है कि उपार्जन कंेद्र में अनावश्यक भीड़ नहीं लगाएं। केंद्रों में सोशल डिस्टैंसिंग के मानकों का पालन करें। किसान भाई खरीदी केंद्रों पर फेस मास्क अथवा चेहरे पर गमछा या रुमाल बांधकर अवश्य आएं। अपने हाथों को नियमित अंतराल में साबुन या सेनेटाईजऱ से अवश्य धोएं। कलेक्टर चौधरी ने समस्त उपार्जन केंद्रो में सोशल डिस्टेंसिंग मानकों का हो अनिवार्य रूप से पालन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने केवल एसएमएस प्राप्त किसानो से ही खऱीदी करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने समस्त उपखंड अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उपार्जन कंेद्रों पर कड़ी निगरानी रखें। लापरवाही एवं उदासीनता पर दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई किया जाना सुनिश्चित करें।
बढ़ाए गए 6 खरीदी केंद्र-
विगत वर्षों में 36 खऱीदी कंेद्रों के माध्यम से उपार्जन का कार्य किया जाता था, इस वर्ष सोशल डिस्टैंसिंग को दृष्टिगत रखते हुए खऱीदी केंद्रों की संख्या को बढ़ाकर 42 कर दिया गया है। पूर्व से स्थापित खऱीदी केंद्रों में सीधी खुर्द, कमर्जी, चुरहट, पनवार, चौफ ़ाल, माटा, उपनी, अमरवाह, गोपालपुर, भरतपुर, बघवार, सेमरिया,चकड़ौर, खड्डी कला, टमसार, ताला, मझौली, मड़वास, अमिलिया, बघोर, बमुरी, पतुलखी, टिकरी, बडख़रा, लकोड़ा, मवई, अमिरती, साड़ा, कटौली, रामपुर, लुरघुटी, बहरी, सपही, कडिय़ार, बेल्दह एवं सरोकला शामिल हैं। नवीन कंेद्रों में बिठौली, डांगा, गिजवार, गुजरेड़, कोल्हूडीह एवं चितांग शामिल हैं।

Manoj Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned