प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में लापरवाही बरतना राजस्व निरीक्षकों व पटवारियों को पड़ा भारी

तीन राजस्व निरीक्षकों सहित तेरह पटवारियों को तहसीलदार कुसमी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

By: Manoj Pandey

Published: 18 Apr 2020, 10:01 PM IST

सीधी। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में जिले के कुसमी विकासखंड अंतर्गत राजस्व निरीक्षकों एवं पटवारियों को लापरवाही बरतना भारी पड़ गया है। एसडीएम कुसमी आरके सिन्हा के निर्देशन पर तहसीलदार कुसमी लवलेश मिश्रा द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। लापरवाही बरतने में क्षेत्र के तीन राजस्व निरीक्षक सहित १३ हल्का पटवारियों को नोटिस जारी की गई है।
जारी कारण बताओ नोटिस में उल्लेखति किया गया है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अंतर्गत किसानो के खाता नंबर एवं आधार नंबर में अंकित अंग्रेजी नाम की त्रुटियों का निराकरण आप लोगों द्वारा आज दिनांक तक नही किया गया, जिसके कारण किसानो का भुगतान नही हो पा रहा है। बताते चले कि एसडीएम एवं तहसीलदार द्वारा देश में फैली वैश्विक महामारी कोराना वायरस (कोविड-19) के संकट को गंभीरता से लिया जा रहा है खण्ड प्रशासन के ये दोनो अधिकारी क्षेत्रीय भ्रमण में रहते हंै और लोगो की समस्या सुलझाते देखे जा रहे है। अनेको तरह से जागरूकता अभियान चलाया है और मास्क, साबुुन, लंच पैकेट व राशन के पैकेट गरीबो व जरूरतमंदों को वितरित करते क्षेत्र मे देखे जा रहे हैं। ऐसे मे शासन के निर्देशो का पालन हो एवं किसानो को जल्द से जल्द लाभ मिले इसको लेकर कई बार पटवारियों को निर्देश दिया गया था फि र भी उनके कार्य मे लापरवाही दिखी जिसकी वजह से राजस्व निरीक्षक मणिराज सिहं पोड़ी, लालजी सिंह कुसमी, सुखदेव कुशवाहा भुइमाड़, पटवारियों मे राजेश कुमार कोरी बस्तुआ, जनार्दन मिश्रा अमगांव, संजय भारती शंकरपुर, चंदप्रताप सिहं जूरी भगवार, राहुल प्रसाद कतरवार, राज कुमार सिहं कुंदौर, विनोद कुमार दीवान डेवा, गोविंद प्रसाद प्रजापति कोड़ार, राजीव सिहं पोड़ी, राम नारायण दुवे खोखरा, हिंछलाल पटेल केशलार, लक्षिमण प्रसाद साकेत भुइमाड़, इंद्रभान सिहं रामपुर, भगवानदास विश्कर्मा भदौरा, मनमोहन सिंह अमरोला सभी को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है।

Manoj Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned