पूर्व नगर पंचायत के बेटे को बंधक बना कर करोड़ों की डकैती

-पूर्व नगर पंचायत के घर में ही सर्राफा की दुकान

By: Ajay Chaturvedi

Published: 03 Jul 2021, 02:04 PM IST

सीधी. पूर्व नगर पंचायत के बेटे को बंधक बना कर डकैतों ने बड़ी डकैती को अंजाम दिया है। घटना से पूरे इलाके में दहशत है। लोग कानून व्यवस्था को लेकर तरह-तरह के सवाल कर रहे हैं।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि जिले के मंझौली वार्ड-13 स्थित पूर्व नगर पंचायत गीता मोहन सोनी की सर्राफा दुकान में बीती रात करीब ढाई बजे डकैतों ने हमला बोला। सर्राफा की दुकान सोनी के घर में ही है। बताया जा रहा है कि रात करीब ढाई बजे हथियारों से लैश डकैत दुकान में घुस गए। उस वक्त सोना का बेटा हार्दिक उर्फ सूरज सोनी दुकान में सो रहा था। ऐसे में डैकैतों ने उसे बांध कर न केवल बंधक बनाया बल्कि मारपीट कर उसे अधमरा कर दिया। फिर ज्वेलरी शॉप में रखे बेशकीमती आभूषण और नकदी लेकर चलते बने।

घटना के वक्त दुकान से सटे घर में परिवार के अन्य सदस्य सो रहे थे। ऐसे में डकैतों ने दुकान में सो रहे सूरज का मुंह आदि बाधा दिया ताकि वह शोर न मचा सके। लिहाजा घर में सो रहे लोगो को इसकी भनक तक नही लगी। सूरज को जब होश आया तो उसने घर के सदस्यों को घटना की जानकारी दी।

उसके बाद घरवालों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। साथ ही डकैतों की पिटाई से गंभीर रूप से घायल सूरज को लेकर पहले सीधी अस्पताल गए, लेकिन गंभीर हालत के चलते डॉक्टरों ने उसे रीवा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया।

इस बीच घटना की सूचना मिलते ही मझौली थाना प्रभारी सतीश मिश्रा मौके पर पहुंचे। घटनाक्रम का जायजा लेने के बाद उन्होंने इसकी जानकारी उच्चाधिकारियो को दी। मौके पर सीधी एसपी पंकज कुमावत, एडिशन एसपी अंजुलता पटेल एसडीओपी सहित अन्य अधिकारी भी पहुच गए।

बताया जा रहा है कि सर्राफा व्यापारी की दुकान में सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है, जिसमें पूरी वारदात कैंद हो गई है। कैमरे में देखा गया है कि रात लगभग ढ़ाई बजे कई संख्या में आरोपी हथियार से लैंस होकर अंदर घुसे थे। पुलिस उक्त फुटेज के आधार पर घटना को अजंमा देने वाले बदमाशो की तलाशी में जुटी है। मौके की तफ्तीश में डॉग स्क्वॉयड और फ्रिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को भी जांच में लगाया गया है।

घटना की तहत जाने के लिये एसपी, पुलिस टीम के साथ रणनीति बना रहे है। हांलाकि घटी वारदात और करोडों रूपये की डकैती को लेकर अधिकारिक रूप से पुलिस अधिकारियों के द्वारा अभी पुष्टि नही की गई हैं।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned