गांव के रिटायर्ड कंपाउंडर से इलाज के बाद लौट रहे युवक की मौत, परिजनों का हंगामा

-परिजनों का इलाज करने वाले झोला छाप डॉक्टर पर गंभीर आरोप

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 23 Jun 2020, 03:12 PM IST

सीधी. सीने में दर्द का इलाज कराने गए 45 वर्षीय युवक की दवाखाने से लौटते वक्त रास्ते में हुई मौत। गांव में मचा हड़कंप। परिजनों ने इलाज करने वाले रिटायर्ड कंपाउंडर पर बिना किसी जांच के गलत इलाज और दवा देने का लगाया आरोप। पुलिस ने शव को कब्जे में ले कर शुरू की जांच।

घटना के बाबत बताया जाता है कि मझौली थाना अंतर्गत ग्राम धनौली निवासी 45 वर्षीय युवक की सीने में दर्द उठने पर दवा कराकर लौटते समय आधे रास्ते में ही मौत हो गई। इस घटना को लेकर मृतक के परिजनों द्वारा दवा करने वाले
घटना के बाबत बताया जाता है कि ग्राम धनौली निवासी लछिमन पिता जगदेव उर्फ जग्गू साहू (45 वर्ष) सोमवार की सुबह करीब 10 बजे सीने में दर्द होने पर मझौली में रिटायर्ड कंपाउंडर सरोज तिवारी के यहां अपने लड़के के साथ दवाई कराने आया था। वहां तिवारी ने बिना किसी जांच के ही दर्द निवारक इंजेक्शन लगा दिया। इसके बाद लछिमन 10.50 बजे जैसे ही अपने लड़के की साइकिल पर बैठ कर घर के लिए रवाना हुआ, रास्ते में मझौली स्थित पोष्ट ऑफिस के पास उसकी मौत हो गई।

घटना की जानकारी लोगों द्वारा मझौली पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचीं और परिजनों के बयान दर्ज किया और पंचनामा कराने के बाद शव को पीएम के लिए मर्चरी में भेज दिया। हादसे के शिकार लछिमन के परिजनों के बयान के आधार पर मझौली पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned