पुलिस के नाक के नीचे महिला ही चला रही थी सेक्स रैकेट, आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा

पुलिस ने दबिश देकर पकड़े तीन युवक और दो युवतियां को पकड़ा

By: राजीव जैन

Published: 10 Feb 2018, 08:18 PM IST

सीधी. जिस्मफरोशी का धंधा बड़े शहरों के साथ ही छोटे शहरों में भी बढ़ रहा है। सीधी शहर मे कोतवाली पुलिस की नाक के नीचे सेक्स रैकेट वर्षों से चल रहा था, जिस पर पुलिस की नजर पड़ी तो छापामार कार्रवाई की गई, जहां आपत्तिजनक स्थिति में पांच लोग पकड़े गए। जिसमें तीन युवक व दो युवती शामिल हैं। तीन युवकों के साथ पकड़ी गईं दो युवतियां जिले के ग्रामीण अंचल की हैं, तो वहीं एक युवक मैहर का तथा दो जमोड़ी चौकी अंतर्गत बघवारी गांव के हैं। बताया जा रहा है कि यहां पर धंधा लंबे अर्से से चल रहा था। सिटी कोतवाली के पीछे चौरसिया मुहल्ले में रैकेट पकड़ा गया है। पुलिस के द्वारा पकडक़र कोतवाली लाया गया, जहां मामला पंजीवद्ध कर कार्रवाई की गई।

सिविल ड्रेस मे पहुंची पुलिस की टीम
मुखविरों की सूचना पर कोतवाली पुलिस द्वारा मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक मनोज श्रीवास्तव को दी गई। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप शेंडे के द्वारा टीम गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए। जिस पर कोतवाली, निर्भया प्रभारी आराधना सिंह, महिला डेस्क प्रभारी शीला शर्मा, सुप्रिया मिश्रा व यातायात पुलिस केे द्वारा सेक्स रैकेट पकडऩे के लिए छापेमारी की गई। जिसमें महिला पुलिस की संख्या ज्यादा थी। पुलिस के द्वारा खाकी वर्दी उतारकर छापेमारी करने सिविल ड्रेस मे पहुंची थी।

 

Sex Racket Busted in Sidhi
IMAGE CREDIT: patrika

पकड़ाए ये आरोपी
पुलिस केे द्वारा दो युवती व तीन युवकों को संदिग्ध हालत मे पकड़़ा गया है। जिसमें सतना जिले के मैहर निवासी गंगा विश्वकर्मा पिता रामगोपाल विश्वकर्मा 50 वर्ष, शहर हाउसिंग बोर्ड प्रियदर्शनी नगर निवासी आशीष मिश्रा पिता पन्नालाल मिश्रा 36 वर्ष व दीपेंद्र सिंह पिता सूर्यनारायण सिंह उम्र 36 निवासी बघवारी शामिल हैं। जिनके खिलाफ अनैतिक ब्यापार निवारण अधिनियम 1956 की धारा 3, 7 के तहत कार्रवाई की गई है।

बड़े शहरों से भी बुलाई जाती हैं लड़कियां
सूत्रों की माने तो शहर मे सेक्स रैकेट का कारोबार हाई प्रोफाईल तरीके से चल रहा है। जहां रैकेट चलाने वाले लोगों के द्वारा देवेद्रनगर, इलाहाबाद सहित अन्य शहरों मे चलने वाले रैकेट के संपर्क मे रहती है। यदि रूपए वाला ग्राहक फंसा तब बड़े शहरों से लड़कियों को बुलाकर ग्राहक के सुपुर्द किया जाता है।

राजीव जैन
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned