दुखद: साथियों संग नहाने गए किशोर की गोपालदास बांध में डूबने से मौत

दुखद: साथियों संग नहाने गए किशोर की गोपालदास बांध में डूबने से मौत

Anil Singh Kushwaha | Publish: Nov, 11 2018 01:56:17 AM (IST) | Updated: Nov, 11 2018 01:56:18 AM (IST) Singrauli, Madhya Pradesh, India

साथी बच्चों ने नहीं दी थी जानकारी

सीधी. शहर के गोपालदास बांध में डूबने से 12 वर्षीय बालक की मौत हो गई। पुलिस ने तीन दिन बाद उसका शव बरामद कर पोस्टमार्टम कराया और अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया। घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनों ने बताया कि सूरज बंसल दिवाली के दिन से लापता था। काफी खोजबीन के बाद भी सुराग न मिलने पर सिटी कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने धारा 363 आइपीसी के तहत मामला पंजीबद्ध कर पतासाजी शुरू की थी।

तीन दिन बाद मिला शव
शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात करीब 10 बजे गोपालदास बांध के दक्षिण छोर स्थित रेस्ट हाउस के समीप उसकी साइकल, चप्पल व कपड़े उतारे हुए देखे। इसके बाद उन्होंने कोतवाली पुलिस को सूचना दी। एसआई वंदना द्विवेदी, केदार परौहा, अभिषेक पांडेय, प्रधान आरक्षक विनोद त्रिपाठी, आरक्षक आजाद खान मौके पर पहुंचकर सर्च लाइट से तलाश शुरू की तो उसका शव बांध में उतराता मिला। शव बांध से निकालकर सागर उर्फ सूरज बंशल पिता रजन निवासी अहिरान टोला पड़ैनिया के रूप में शिनाख्त कराई। पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

ऐसे हुआ हादसा
बताया गया, सूरज 7 नवंबर को साथी दीपक केवट पिता सुरेश (11) निवासी बलियार सलैया व दीपू पिता रामप्रसाद केवट (14) निवासी मझरेटी के साथ घर से खेलने के लिए निकला था। पूछतांछ उन्होंने बताया कि सागर उन्हें अमरूद खिलाने के लिए पड़ैनिया और वहां से अपने घर ले गया था। साइकिल लेकर गोपालदास बांध नहाने के लिए चलने को कहा। हम लोगों को बांध का रास्ता भी नहीं मालूम था, लेकिन सागर ही ऊंची हवेली, मीना बाजार होते हुए गोपालदास बांध लेकर गया। साथी बच्चों ने बताया कि कपड़े उतारने के बाद सबसे पहले सूरज ही पानी में उतरा, जो गहरे पानी में पहुंचने के बाद डूबने लगा। उसे देखकर हम लोग घबरा गए। हल्ला-गुहार भी किया, लेकिन किसी ने नहीं सुना। सागर जब पानी में समा गया तो डर के चलते चुप-चार घर चले गए। घटना की किसी से चर्चा भी नहीं की।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned