अंधविश्वास के आगे ममता का घुटा दम: 10 माह के बच्चे की हत्या का शक, हिरासत में मां

सिटी कोतवाली अंतर्गत सैरपुर गांव की घटना

By: Sonelal kushwaha

Published: 13 Sep 2021, 02:43 AM IST

सीधी. जादू-टोने के अंधविश्वास के आगे मां की ममता बौनी हो गई। 10 माह के बच्चे के गले में मिले निशान से गला घोंटकर हत्या किए जाने का शक है। इस मामले में बच्चे की मां को हिरासत में लेकर पूछतांछ की जा रही है। घटना सिटी कोतवाली अंतर्गत सैरपुर गांव की है। मामला संवेदनशील होने के कारण पुलिस जल्दबाजी में कार्रवाई नहीं करना चाह रही है।

जानकारी के अनुसार सैरपुर निवासी सुधीर गुप्ता दिल्ली में नौकरी करता है, गांव में उसकी मां के साथ पत्नी प्रियंका गुप्ता और तीन पुत्र रह रहे थे। शनिवार को उसके 10 माह के बच्चे सौरभ गुप्ता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। प्रियंका ने इस बात को कई घंटों तक सास और पड़ोसियों से छिपाए रही। देर रात किसी ने पुलिस को सूचना दी तो इसकी पड़ताल शुरू हुई। पुलिस टीम ने दबिश देकर बच्चे के शव को बरामद किया। मृत बच्चे के गले में फंदे के निशान मिलने के कारण पुलिस प्रथम दृष्ट्या हत्या का मामला मानते हुए मां को शक के आधार पर हिरासत में ले लिया।

ओझा के संपर्क में थी महिला
ग्रामीणों की माने तो महिला सहित उसके परिवार के सदस्य लंबे समय से बीमारी के चपेट में है, उसके ससुर मुन्नीलाल गुप्ता की 60 वर्ष के उम्र में मौत हो चुकी है। वहीं ननद वंदना गुप्ता की 18 वर्ष की उम्र में मौत हो गई थी। इधर महिला भी बीमारी से परेशान थी, जिससे वह गंाव के ही एक ओझा के संपर्क में थी, और झाडफ़ूक करवा रही थी। ग्रामीण बताते हैं कि महिला सशंकित थी कि ससुर व ननद की जादू टोने से हुई है। और ओझा द्वारा इस बात की सलाह दी जा रही थी कि जादू टोने से मुक्ति के लिए बलि चढ़ानी होगी, इस घटना को इसी से जोड़कर देखा जा रहा है।


बड़े बेटे ने मां की ओर किया इशारा
पुलिस सूत्रों की मानें तो मासूम बच्चे की मौत के मामले में महिला के बड़े बेटे से जब पुलिस जानकारी ले रही थी तो उसने अपनी मां की ओर ही छोटे भाई की हत्या करने का इशारा किया। बहरहाल महिला पुलिस हिरासत में हैं और उसके दो बेटे सबसे बड़ा सोनू गुप्ता, दूसरा स्वागत गुप्ता दादी के पास सैरपुर गांव में हैं।

Sonelal kushwaha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned