विद्यालय ने छात्रों से ली गई अतिरिक्त फीस की वापस, प्रबंधन ने शुल्क माफी के नियमों को भी कर दिया था दरकिनार

विद्यालय ने छात्रों से ली गई अतिरिक्त फीस की वापस, प्रबंधन ने शुल्क माफी के नियमों को भी कर दिया था दरकिनार
students union election 2019

Anil Singh Kushwaha | Updated: 23 Aug 2019, 06:35:10 PM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

मामला सीधी जिले के शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल पोंड़ी का

पथरौला/सीधी. जिले के आदिवासी बाहुल्य जनपद पंचायत कुसमी अंतर्गत संचालित होने वाली शासकीय स्कूलों में अध्ययन करने वाले छात्रों से लिए गए प्रवेश शुल्क की राशि विद्यालय प्रबंधन ने वापस करना शुरू कर दी गई है। जनपद अंतर्गत जन शिक्षा केंद्र पोंड़ी के छात्र-छात्राओं द्वारा बताया गया कि पत्रिका में खबर प्रकाशन के बाद से विद्यालय प्रबंधन के द्वारा 1100 रुपए वापस करना शुरू कर दिया गया है। बता दें कि कुसमी जनपद अंतर्गत संचालित शासकीय स्कूलों मे कक्षा 10वीं और 12वीं में प्रवेश लेने वाले छात्रों से शासन द्वारा निर्धारित की गई शुल्क से अधिक राशि वसूली गई थी।

छात्रों से 1260 की जगह 1500 रुपए वसूला गया था
साथ ही शुल्क माफी के नियमों को भी दरकिनार कर दिया गया था। और छात्रों से 1260 रुपए की जगह 1500 रुपए प्रवेश सहित अन्य शुल्क के नाम पर वसूला गया था। जिसकी शिकायत अविभावकों सहित छात्रों द्वारा पत्रिका से करते हुए बताया गया था कि विगत वर्ष भी शुल्क माफी के नाम पर संबल योजना का कार्ड जमा करवाते हुए बाद में राशि वापस करनें की बात कही गई थी।

छात्रों को शुल्क माफी का लाभ नहीं मिला
किंतु सत्र बीत जाने के बाद भी ली गई राशि वापस नहीं की गई और पात्रता रखने वाले छात्रों को शुल्क माफी का लाभ नहीं मिला है। बताया गया था कि इस वर्ष फिर से बाद में राशि वापस करनें का वही पुराना आश्वासन दिया जा रहा है। जिसे संज्ञान मे लेते हुए पत्रिका द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी नवल सिंह से निर्धारित शुल्क सहित शुल्क माफी के संबंध में जानकारी एकत्रित करते हुए मामले को 3 अगस्त के अंक में 'गाइड लाइन से हटकर छात्रों से वसूली जा रही प्रवेश शुल्कÓ नामक शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था।

1100 रुपए छात्रों को वापस करना शुरू कर दिया है
जिसके बाद जन शिक्षा केंद्र प्रभारी संतोष दुबे हरकत में आए और शुल्क माफी संबंधी दस्तावेज जमा करवाते हुए गाइड लाइन से हटकर लिया गया शुल्क छात्रों को 1100 रुपए वापस करना शुरू कर दिया गया है। जिससे निर्धन छात्रों सहित अविभावकों मेें खुुशी है। वहीं जनपद क्षेत्र के अन्य स्कूलों में अभी शुल्क वापसी नहीं की जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned