पेश की मिसाल: प्रशासन से नहीं सुनी तो ग्रामीणों ने बना दी सड़क


सीधी
रामपुर नैकिन जनपद की हनुमानगढ़ ग्राम पंचायत में आवागमन को लेकर रहवासियों को होने वाली तकलीफ कुछ लोगों से नहीं देखी गई तो गैंती-फावड़ा लेकर वे खुद जुट गए और श्रमदान कर करीब एक किमी. लंबी सड़क जनसहयोग से बना डाली। ग्रामीणों ने इससे पहले सड़क निर्माण के लिए प्रशासन से गुहार लगाई थी, लेकिन अधिकारियों ने ध्यान नहीं दिया। लगातार उपेक्षा के बाद ग्रामीणों ने खुद सड़क बनाने का निर्णय लिया और।

दरअसल, हनुमानगढ़ ग्राम के वार्ड-11 तेंदुई टोला में अर्से से पहुंच मार्ग न होने के कारण बरसात में लोगों का आवागमन बाधित था। इसी समस्या को देखते हुए दीनदयाल सेवा समिति के अध्यक्ष व सदस्यों ने श्रमदान कर आवागमन को सुचारु करने का निर्णय लिया। मुख्य मार्ग से करीब एक किमी दूर स्थित चंदुई टोला में दोनों तरफ करीब सात सौ मीटर प्रशासन ने सड़क तो बना दी थी, लेकिन करीब तीन सौ मीटर पट्टे की भूमि होने के कारण सड़क का निर्माण नहीं हो पा रहा था, बाद में जब भूमि स्वामी भूमि देने को राजी हुए तो प्रशासन ने सड़क निर्माण को लेकर अनदेखी करने लगा। प्रशासन के उपेक्षात्मक रवैये से नाराज ग्रामीणों ने खुद सड़क निर्माण में जुट गए।

सड़क निर्माण का नेतृत्व कर रहे जनपद सदस्य नारायण प्रसाद तिवारी ने बताया कि पहुंच मार्ग न होने से बारिश के समय रहवासियों को भारी परेशानी होती थी। बच्चों का स्कूल जाना बंद हो जाता था। चंदुई टोला में निजी भूमि के चलते अटका था सड़क निर्माण, जब किसान जमीन देने को तैयार हुआ तो प्रशासन ने अनदेखी शुरू कर दी। अब ग्रामीण करा रहे हैं मार्ग का निर्माण।
suresh mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned