scriptThousands of trees burnt to ashes in a forest fire near the city | लापरवाही जारीः शहर के नजदीक जंगल में लगी आग में हजारों पेड़ जलकर हुए राख | Patrika News

लापरवाही जारीः शहर के नजदीक जंगल में लगी आग में हजारों पेड़ जलकर हुए राख

ग्रामीणों की सूचना के बाद भी धधकती आग पर काबू पाने नहीं शुरू हुई पहल

सीधी

Published: March 31, 2022 08:50:17 pm

सीधी. शहर के नजदीक डेम्हा गांव के जंगल में विगत दो दिन से लगी आग लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक करीब दो हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल में जंगल को नुकसान हो चुका है। बीते करीब दस वर्षों के अंतराल में जो पौधरोपण कर पेड़ तैयार किए जा रहे थे, उनको सबसे अधिक नुकसान पहुंचा है।

negligence_of_forest_department_continues_fire_in_forest.png

अधिकांश पेड़ नष्ट हो गए हैं। यह आग नौढ़िया गांव के आसपास से भड़की थी जो धीरे-धीरे दक्षिणी और पूर्वी क्षेत्र की ओर आगे बढ़ती गई। जिस पर काबू पाने के लिए किसी तरह का प्रयास नहीं किया जा रहा है। जंगल में रह रहे कई जानवरों के मरने की भी आशंका जताई जा रही है।

मेहनत पर फिरा पानी
बीते कई वर्षों से जंगल में अलग-अलग प्रजाति के पौधे रोपे जा रहे थे। अब आग ने इतना विकराल रूप ले लिया कि वन विभाग की मेहनत पर पानी फिर गया, साथ ही लाखों रुपए जो खर्च किए गए थे वह भी व्यर्थ हो गया है। बताया गया है कि वर्ष 2014-15 में पांच हेक्टेयर में सागौन के 10 हजार पौधे रोपे गए थे। इसी तरह बांस एवं अन्य प्रजातियों के करीब 20 हजार पौधों का अलग से रोपण हुआ था। वर्ष 201 में तीन हेक्टेयर में 15 हजार सागौन के पौधे, एक हेक्टेयर में बांस के 5 हजार पौधे रोपे गए थे। 2018 में चार और पांच हेक्टेयर के अलग-अलग भागों में करीब 20 हजार से अधिक की संख्या में पौधे रोपित किए गए थे। हाल के वर्षों में लगाए गए ये पौधें जलकर नष्ट हो गए हैं, अब नए सिरे से पौधरोपण का कार्य करना पड़ेगा।

आग की घटनाओं को रोकने में नाकामी
वन विभाग के पास सेटेलाइट से आग की घटनाओं पर तत्काल अलर्ट मिलता है लेकिन विभाग के अधिकारियों द्वारा समय पर मौके पर अमला भेजने में उदासीनता के कारण आग बड़े हिस्से को चपेट में ले लेती है। डेम्हा घाटी में इसके पहले कई बार जंगल में आग लगी और भारी नुकसान होता रहा है। यहां पर जानवर भी रहते हैं जो आगजनी के दौरान गांवों की ओर भागते हैं और बेमौत मारे जाते हैं। दो साल पहले भी आग लगी थी लेकिन उस दौरान स्थानीय लोगों द्वारा दी गई सूचनाओं को तत्कालीन डीएफओ ने गंभीरता से नहीं लिया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथSidhu Moose Wala Murder: दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी, सिद्धू मूसेवाला को नजदीक से गोली मारने वाला शूटर अंकित गिरफ्तारMaharashtra Politics: महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट में एकनाथ शिंदे सरकार को मिला बहुमत, 164 विधायकों ने किया समर्थनपीएम मोदी आज जाएंगे आंध्र प्रदेश, अल्लुरी सीताराम राजू की प्रतिमा का करेंगे अनावरणहिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़ा हादसा, सैंज घाटी में गिरी बस, बच्चों समेत 16 लोगों की मौतNCR के एरिया का दायरा कम करना चाहती है हरियाणा सरकार, विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा जता चुके हैं विरोधसूरत फैमिली कोर्ट ने एक दिन में 303 मामलो का किया निपटारा, जज आरजी देवधारा ने कहा- यह एक दिन का रिकॉर्डDelhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.