तीन दशक बाद भी नहीं शुरू हो पाया अग्रणी महाविद्यालय का सामान्य छात्रावास

तीन दशक बाद भी नहीं शुरू हो पाया अग्रणी महाविद्यालय का सामान्य छात्रावास
sidhi news

Manoj Kumar Pandey | Updated: 12 Jun 2019, 09:36:30 PM (IST) Sidhi, Sidhi, Madhya Pradesh, India

सामान्य छात्रावास न होने से गरीब बच्चों को महंगे किराए पर लेना पड़ता है कमरा, छात्रावास भवन मे पहले चलता था कॉलेज का प्रशासनिक भवन, पांच वर्ष से पड़ा है बेकार, मरम्मत कराकर छात्रावास संचालन हेतु की जा चुकी है पूर्ण तैयारी, मामला शासकीय संजय गांधी कॉलेज के सामान्य छात्रावास का

सीधी। जिले के अग्रणी महाविद्यालय मे करीब तीन दशक पूर्व बने सामान्य छात्रावास भवन का संचालन अब तक नहीं हो पाया है। जिसके चलते यहां प्रवेश लेने वाले सामान्य वर्ग के गरीब छात्रों को महंगे किराए के भवन पर रहना पड़ता है। दरअसल करीब पांच वर्ष पूर्व तक छात्रावास भवन का उपयोग कॉलेज के प्रशासनिक भवन के रूप मे किया जाता रहा है, लेकिन करीब पांच वर्ष पूर्व कॉलेज का कंपोजिट भवन तैयार होने के बाद अब यहां भवन की समस्या नहीं है, प्रशानिक भवन भी नवीन कंंपोजिट भवन मे स्थानांतरित किया जा चुका है, जिसके चलते छात्रावास भवन खाली पड़ा है, भवन का मरम्मतीकरण कराकर बिजली फीटिंग व पेयजल की व्यवस्था भी गत वर्ष की जा चुकी थी, लेकिन छात्रावास का संचालन शुरू नहीं किया जा सका, लिहाजा भवन एक बार भी कबाड़ होता जा रहा है।
विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शासकीय संजय गांधी कॉलेज परिषर मे बना सामान्य छात्रावास भवन पहले बीटीआई का था, जिसे अस्सी के दशक मे कॉलेज को हस्तांतरित कर दिया गया था, उस समय कॉलेज के पास भवन का अभाव था, जिसके चलते इस भवन को प्रशानिक भवन के रूप मे उपयोग किया जाने लगा। तब से लेकर वर्ष २०१३ तक इस भवन को कॉलेज के प्रशासनिक भवन के रूप मे उपयोग किया जाता रहा है, इसी दरमियान कॉलेज मे बृहद कंपोजिट भवन का निर्माण हुआ, जिससे कॉलेज मे भवन की समस्या समाप्त हो गई और प्रशानिक भवन के साथ ही शैक्षणिक भवन के रूप मे भी इस भवन का उपयोग किया जा रहा है, और सामान्य छात्रावास भवन पांच वर्ष मे खाली पड़ा हुआ है।
छात्रावास के संचालन हेतु हो चुके हैं कई आंदोलन-
संजय गांधी कॉलेज परिषर मे बने सामान्य छात्रावास भवन मे छात्रावास संचालन हेतु कई बार विभिन्न छात्र संगठनों द्वारा आंदोलन कर ज्ञापन सौंपा जा चुका है, आंदोलनों के बाद गत वर्ष इस भवन के मरम्मतीकरण के साथ ही यहां बिजली फिटिंग, रंगाई पुताई व पेयजल हेतु एक ट्यूबवेल का उत्खनन कराया जा चुका है, छात्रावास संचालन की पूरी तैयारी भी कर ली गई थी, लेकिन संचालन नहीं हो सका।
जिले मे नहीं हैं एक भी सामान्य छात्रावास-
जिला मुख्यालय मे अब तक एक भी पोस्ट मैट्रिक सामान्य छात्रावास संचालित नहीं हैं। जिले के अग्रणी महाविद्यालय शासकीय संजय गांधी स्मृति स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय को ही सामान्य छात्रावास की दरकार बनी हुई है।
जुलाई माह से शुरू करने की है योजना-
पहले कॉलेज मे भवन के अभाव मे छात्रावास भवन का उपयोग प्रशासनिक भवन के रूप मे किया जाता रहा है, कंपोजिट भवन बनने से अब भवन की समस्या समाप्त हो गई है। छात्रावास संचालन के लिए शासन को लगातार पत्राचार किया गया था, जिससे वर्ष 2015-16 मे छात्रावास के लिए पद सृजित किए जा चुके हैं, जनभागीदारी मद से भवन का मरम्मतीकरण सहित बिजली व पेयजल की व्यवस्था भी दुरूस्त की जा चुकी है, इस शैक्षणिक सत्र से हर हाल में छात्रावास का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।
डॉ.आरपी सिंह
छात्रावास प्रभारी, एसजीएस कॉलेज सीधी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned