अनियंत्रित बल्कर ने बाइक में मारी ठोकर, एक की उपचार के दौरान रीवा में हुई मौत

बाइक में तीन लोग थे सवार, गिरकर हुए घायल, सीधी टिकरी मार्ग में गोरियरा मोड़ पर हुआ हादसा, बुझ गया घर का चिराग

By: Manoj Pandey

Published: 10 Apr 2019, 09:43 PM IST

सीधी। सीधी-टिकरी मार्ग में बुधवार की दोपहर करीब 1 बजे तेज गति से लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए एक बल्कर चालक ने बाइक में ठोकर मार दिया, जिससे बाइक में सवार तीन युवक गिरकर घायल हो गए, इनमें से एक की उपचार के लिए रीवा ले जाते समय मौत हो गई। तीनो युवक बाइक से संजय गांधी महाविद्यालय में बीएससी की परीक्षा देने आए थे जहां से वापस अपने गृह ग्राम जा रहे थे।
घटना के संबंध में घायल शिवांग सिंह पिता अवनिंद्र सिंह 18 वर्ष निवासी भदौरा थाना कुसमी ने पुलिस को दिए गए बयान में बताया कि शहर के शासकीय संजय गांधी महाविद्यालय में बीएससी द्वितीय वर्ष का छात्र हूं। 10 अप्रैल को परीक्षा देने संजय गांधी महाविद्यालय सीधी आया था जहां से अपने साथी विनय तिवारी पिता रामनरेश तिवारी 20 वर्ष निवासी पोंड़ी बजवई की मोटर सायकल से जा रहे थे, मोटर सायकल विनय तिवारी चला रहे थे, मैं बीच में बैठा था तथा पीछे एक अन्य साथी नीरज गुप्ता पिता रोशनलाल गुप्ता 20 वर्ष निवासी गोतरा बैठा हुआ था। जैसे ही हम लोग सीधी-टिकरी मार्ग में गोरियरा मोड़ पर पहुंचे, सामने से आ रहे एक बल्कर के चालक ने लापरवाही पूर्वक काफी तेज गति से वाहन चलाते हुए आया और बाइक में ठोकर मार दिया, जिससे हम तीनों लोग गिरकर घायल हो गए। इस घटना में विनय तिवारी को काफी चोंटे आईं। एक्सीडेंट के बाद डायल 100 वाहन उसी रोड से गुजर रही थी, जिसमे बैठाकर हम लोगों को उपचार के लिए जिला अस्पताल लाया गया।
रीवा ले जाते समय एक की हुई मौत-
बताया कि एक्सीडेंट की इस घटना में विनय तिवारी और शिवांग सिंह के गंभीर चोंट आने के कारण उन्हें जिला अस्पताल के चिकित्सकों के द्वारा उपचार के लिए रीवा के लिए रेफर कर दिया गया, जहां रीवा ले जाते से विनय तिवारी की मौत हो गई।
बुझ गया घर का चिराग-
बताया गया कि पोंड़ी बजवई निवासी रामनरेश तिवारी पेशे से शिक्षक हैं, वो इजीएस शाला रामपुर में पदस्थ हैं, उनके चार संताने हैं, जिसमें तीन पुत्रियां व एक ही पुत्र था। उन्होंने दो माह पूर्व ही बाइक खरीदी थी। जिसे लेकर उनका पुत्र विनय परीक्षा देने सीधी आया था। लेकिन रास्ते में वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया, और उसकी मौत हो गई। इस घटना से उनके घर का चिराग बुझ गया।

Manoj Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned