जब उच्च शिक्षा मंत्री चलाने लगे घास कटर मसीन

किसान की बेटी को नौकरी दिलाने निजी कॉलेज संचालक से की बात

सीधी। अपने अनोखे अंदाज को लेकर चर्चित मप्र शासन के उच्च शिक्षा एवं खेल मंत्री जीतू पटवारी सीधी प्रवास के दौरान एक किसान के घर पहुंच कर घास काटने वाली मसीन चलाने लगे। किसान से समस्या पूंछने पर उन्होंने बेटी को नौकरी दिलाए जाने की बात की तो सीधी जिले की ही एक निजी कॉलेज संचालक को फोन लगाकर उनसे किसान की बेटी को 15-20 हजार की नौकरी दिलाने की बात की। जिस पर कॉलेज संचालक द्वारा नौकरी का आश्वासन दिया गया।
मप्र शासन के उच्च शिक्षा एवं खेल मंत्री जीतू पटवारी अन्य मंत्रियों के साथ दिवंगत पूर्व मंत्री इंद्रजीत कुमार के प्रथम पुण्य तिथि में शामिल होने आए थे, जहां से वापस लौटते समय वह पनवार हवाई पट्टी पहुंचे, जहां बगल के एक किसान के घर में पहुंच गए और किसान गुलाब सिंह को घास काटने की मसीन चलाते देख वह स्वयं मसीन चलाकर घास काटने लगे। उन्होंने कहा कि मैं अभी फिट हूं, मुझे ऐसी मसीन चलाने मे कोई दिक्कते नहीं है। इसके बाद उन्होंने किसान के घर में चाय नास्ता भी किया। किसान से हाल चाल लेने के दौरान किसान की बिटिया अंतिमा सिंह चौहान ने कहा कि सर मैंं पढ़-लिखकर बेरोजगार हूं, मुझे कहीं नौकरी मिल जाए तो कुछ अच्छा हो सकता है, जिस पर जीतू पटवारी ने अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा फोन लगाकर चर्चा की। इसके बाद एक नंबर लेकर शहर मे संचालित टाटा कालेज के डायरेक्टर आरबी सिंह को फोन किए और उनके द्वारा लड़की को १५ से २० हजार रूपए प्रतिमाह की नौकरी देने की बात करते हुए इसे प्राथमिकता से लेने के लिए कहा गया। साथ ही लड़की को अपना मोबाइल नंबर देते हुए किसी भी तरह की समस्या आने पर बात करने को कहा। घर मे बैठकर नाश्ता, चाय लेने के बाद वह वापस भोपाल के लिए रवाना हो गए।

Manoj Pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned