राज्य से बाहर के श्रमिकों का जत्था पहुंचा सीधी, किया जा रहा होम क्वारंटाईन

बाहर के श्रमिकों को होम क्वारंटाइन किए जाने से भयभीत हैं जिलेवासी

By: Manoj Pandey

Published: 05 May 2020, 11:50 PM IST

सीधी। कोरोना वायरस के संक्रमण से देश ही नही पूरा विश्व जूझ रहा है। देश में लगातार लॉकडाउन चल रहा है। पर सीधी के लिए सुखद संदेश ये रहे कि अभी तक एक भी कोरोना पाजिटिव नही मिले है। लॉकडाउन-1 में पूरा विंध्य कोरोना से मुक्त था लेकिन पार्ट-2 के अंतिम चरण में रीवा और शहडोल में कोरोना की दस्तक से पूरे विंध्य में हड़कंप मच गया। लेकिन जिले में अभी तक कोरोना ने दस्तक नही दी है। इसमें लगातार कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी,पुलिस अधीक्षक आरएस बेलबंशी व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा लगातार क्षेत्रों का भ्रमण कर संबंधित विकासखंडों के अधिकारियों व थाना प्रभारियों से लगातार बैठक कर पूरे जिले में पैनी नजर बनाये रखी। लेकिन लोगों का मानना यह है कि जो अब बाहर से श्रमिक आ रहे है उनसे अब जिले के लिए खतरा बना हुआ है। प्रशासन द्वारा इनको अगर क्वारंटाईन सेंटर में रखा जाता तो बात दूसरी थी, लेकिन बाहर से आने वाले श्रमिकों को अब होम क्वारंटाईन किया जा रहा है। जिससे संक्रमण का खतरा परिवार के साथ-साथ गांवों पर भी पड़ेगा। तो जिले को अब लॉकडाउन-03 में अग्रिपरीक्षा से गुजरना पड़ेगा। अब गांवों में भी लगातार प्रशासन को नजर रखनी पड़ेगी। जिससे होम क्वारंटाईन किए गए लोग घर से बाहर न निकल सके।
सीधी पहुंचे 240 श्रमिक-
रविवार की सुबह सूरत से 210 श्रमिक और शहडोल जिले से 30 श्रमिक सीधी पहुंचे। श्रमिकों की सीधी आने की सूचना पर कोतवाली उपनिरीक्षक केदार परौहा, उपनिरीक्षक पूनम ङ्क्षसह अपने दलबल के साथ जिला चिकित्सालय के पास पहुंचे। जहां बसों में भरकर आये श्रमिकों की जिला अस्पताल में स्क्रीनिंग कराई गई है। शहडोल से आने वाले सभी श्रमिकों को क्वारंटाईन किया गया वहीं सूरत से आये 210 लोगों में से 5 को क्वारंटाईन किया गया शेष 205 श्रमिकों को होम क्वारंटाईन किया गया है।

Manoj Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned