script0.6 degree Temperature recorded in fatehpur again | शेखावाटी में पारा फिर जमाव बिंदू पर, किसानों को सताई पाले की चिंता | Patrika News

शेखावाटी में पारा फिर जमाव बिंदू पर, किसानों को सताई पाले की चिंता

शेखावाटी में सर्दी का सितम फिर जमाव बिंदू तक पहुंच गया है। शीतलहर के बीच अंचल के फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 0.6 डिग्री दर्ज हुआ।

सीकर

Published: December 31, 2021 09:11:53 am

सीकर. शेखावाटी में सर्दी का सितम फिर जमाव बिंदू तक पहुंच गया है। शीतलहर के बीच अंचल के फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 0.6 डिग्री दर्ज हुआ। जिससे लोगों की 'धूजणी' छूट गई। सर्दी से बचने के लिए लोगों ने गर्म कपड़ों के अलावा भी आग जलाने के तरह तरह के जतन किए। हालांकि सूरज उगने से लोगों को थोड़ी राहत महसूस हुई है। मौसम साफ होने की वजह से धूप दिन में भी अच्छी खिलने की संभावना है। इससे पहले अंचल के कई इलाकों में आज भी घना कोहरा छाया रहा। जिससे सुबह सुबह दृश्यता में कमी रही। इधर, मौसम विभाग ने शेखावाटी सहित प्रदेश के पश्चिमी जिलों में आगामी दो- तीन दिन शीत व अतिशीतलहर जारी रहने की संभावना जताई है। जिससे न्यूनतम तापमान में कमी का दौर ओर देखने को मिल सकता है।

शेखावाटी में पारा फिर जमाव बिंदू पर, किसानों को सताई पाले की चिंता
शेखावाटी में पारा फिर जमाव बिंदू पर, किसानों को सताई पाले की चिंता


तीन दिन शीतलहर का अलर्ट

मौसम विभाग के अनुसार शेखावाटी सहित पश्चिमी इलाकों में दो जनवरी तक शीतलहर का असर रहेगा। अगले तीन दिन के दोरान सीकर व चूरू में अति शीतलहर व झुंझुनूं में शीतलहर का असर रहेगा। 31 दिसम्बर को सीकर व चूरू में शीत व अतिशीतलहर के अलावा झुंझुनूं, अलवर, हनुमानगढ़, बीकानेर व गंगानगर में शीतलहर चलेगी। इसके बाद नए साल पर भी सीकर, चूरू, झुंझुनूं अलवर व पश्चिमी जिलो में बीकानेर, हनुमानगढ़, गंगानर में शीतलहर का प्रकोप रहेगा।

नए साल के पहला सप्ताह बारिश

स्काई मेट वेदर रिपोर्ट के अनुसार नए साल के पहले हफ्ते में फिर बरसात की संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ से उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में हल्की बारिश व बर्फबारी होगी। मैदानी राज्यो में हल्की से मध्यम धुंध सुबह के समय होगी। इसके बाद मौसम साफ होने पर फिर सर्दी का असर तेज होगा।

किसानों की बढ़ी चिंता
शेखावाटी में पिछले दिनो चार दिन तक लगातार पारा जमाव बिन्दू से नीचे रहने के बाद अब फसलों में असर नजर आने लगा है। कई खेतों में फसलें मुरझा गई और बढ़वार थम सी गई है। इसका मंडियों में आने वाली सब्जियों पर नजर आने लगा है। तापमान गिरने के साथ किसानों को पाले से फसल बर्बाद होने का डर भी सता रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.