18 दिन में होगी 10 हजार शादियां, कंट्रोल रूम में पूछा जा रहा एक ही सवाल

प्रदेशभर में आगामी 18 दिनों में होने वाली दस हजार से अधिक शादियों ने प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की चुनौती बढ़ा दी है।

By: Sachin

Published: 18 Apr 2021, 12:00 PM IST

सीकर. प्रदेशभर में आगामी 18 दिनों में होने वाली दस हजार से अधिक शादियों ने प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों की चुनौती बढ़ा दी है। सरकार ने नइ गाइडलाइन में मेहमानों की संख्या 50 कर दी है। इसके आदेश जारी होते ही प्रदेश के सभी जिलों में शनिवार शाम तक 300 से अधिक टीम गठित हो चुकी हैं। शादी-समारोह के आयोजन की संबंधित उपखंड अधिकारी को सूचना देने की रफ्तार दूसरे दिन भी कमजोर रही। अभी तक 1100 से अधिक शादी समारोह की सूचना मिली है। ऐसे में प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस टीम संबंधित बीट कांस्टेबल, सरकारी स्कूलों के पीईईओ, ग्राम विकास अधिकारी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम व पटवारी एवं महिला पर्यवेक्षकों के जरिए शादी-समारोहों की सूचना जुटाने में लग गए है। इधर, सभी जिला कलक्टरों को बिना अनुमति के शादी-समारोह के आयोजन करने और तय संख्या से ज्यादा लोगों को बुलाने पर चालान कटाने के निर्देश दिए गए है।


नई गाइडलाइन: जयपुर सहित अन्य शहरों में बदले कार्यक्रम
जयपुर के अपर जिला कलक्टर डॉ. अशोक कुमार का कहना है कि कोरोना की नई गाइडलाइन की वजह से कई शादी वाले परिवारों की ओर से मैरिज गार्डन की बजाय होटल से कार्यक्रम करने की सूचना दी जा रही है। जयपुर जिले में 50 से ज्यादा परिवारों ने नई गाइडलाइन के बाद अपने कार्यक्रमों को भी बदल लिया है। इसी तरह कोटा, जोधपुर, अलवर, बीकानेर, अजमेर व उदयपुर में भी नई गाइडलाइन की वजह से आयोजन स्थल बदले हैं।


वीडियोग्राफी के जरिए कार्रवाई

सभी उपखंड अधिकारियों की ओर से शादी-समारोह के आयोजन करने वालों से शिकायत पर कभी भी वीडियोग्राफी मांगी जा सकती हैं। वीडियोग्राफी में यदि संख्या 50 से अधिक नजर आती है तो भी जुर्माने की कार्रवाई हो सकेगी।


कन्ट्रोल रूम: एक ही सवाल और कम तो नहीं होगी संख्या
कोरोना की नई गाइडलाइन के बाद लगातार सभी जिलों के कन्ट्रोल रूम में भी फोन घनघनाने लगे हैं। ज्यादातर की ओर से एक ही सवाल किया जा रहा है कि यदि आगे स्थिति और बिगड़ी तो 50 की संख्या को और कम किया जा सकता है क्या?...। इस पर कन्ट्रोल रूम की तरफ से एक ही जवाब दिया जा रहा है आगामी नई गाइडलाइन के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है।


व्यापार: सख्ती का दिखा असर, खरीददारी भी सीमित

कोरोना की नई गाइडलाइन की सख्ती का असर प्रदेशभर में व्यापार पर दिख रहा है। व्यापारिक संगठनों के अनुसार, प्रदेशभर में शादियों के सीजन में 25 करोड़ से अधिक का कारोबार प्रभावित होने की पूरा संभावना है।

हर आयोजन पर रहेगी नजर, टीम गठित
हर आयोजन पर नजर रखने के लिए टीम गठित कर दी है। ग्राम व शहरों में बनी समितियों को भी जिम्मा दिया गया है। रेण्डम जांच के आधार पर किसी भी शादी समारोह की वीडियो रिकॉडिंग मंगवाकर भी जांच की जा सकती हैं। नियमों को तोडऩे वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

धारासिंह मीणा, अपर जिला कलक्टर, सीकर


ऐसे देनी होगी सूचना और यह करने होंगे इंतजाम
शादी-समारोह के आयोजन के लिए संबंधित उपखंड मजिस्ट्रेट कार्यालय की ई-मेल आईडी पर शादी का कार्ड भेजकर सूचना देनी होगी। इसमें यह भी लिखना होगा कि कोरोना गाइडलाइन का पालना करते हुए आयोजन होगा। आयोजन स्थल पर मास्क, सोशल डिस्टेंस की भी पालना करानी होगी।

पहले बांटे 200 कार्ड, अब कर रहे हैं कॉल

जयपुर रोड निवासी सुरेश सैनी के परिवार में 26 अप्रेल को शादी है। नई गाइडलाइन जारी होने से पहले वह 200 से ज्यादा कार्ड बांट चुके। अब इनकी परेशानी है कि इतने लोगों का आयोजन कैसे करें। ऐसे में दूर के रिश्तेदारों को जूम के जरिए आर्शीवार्द समारोह में ऑनलाइन बुलाने की योजना बनाई जा रही है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned