बिजली पोल लगाने गए ठेकदारों पर बरसी लाठियां और पत्थर, 10 घायल

सीकर. कदमा का बास स्टैंड के पास सोमवार को विद्युत पोल लगाने के दौरान मारपीट में दस लोग घायल हो गए।

By: Vinod Chauhan

Published: 24 Jul 2018, 04:53 PM IST

 

सीकर. कदमा का बास स्टैंड के पास सोमवार को विद्युत पोल लगाने के दौरान मारपीट में दस लोग घायल हो गए। जिनमें विद्युत निगम का ठेकेदार और उसके सात कार्मिक शामिल हैं। जबकि दूसरे पक्ष के तीन लोग घायल हुए हैं। सभी को एसके अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर, लाठी चलने और पत्थरबाजी होने से गांव के बाकी लोग दहशत में आ गए। इसके बाद पुलिस और विद्युत निगम के अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटनाक्रम का जायजा लिया।
जानकारी के अनुसार नए जीएसएस की विद्युत लाइन काशी का बास में जोडऩे के लिए विद्युत निगम का एक निजी ठेकेदार राजकुमार अपने कार्मिकों को साथ लेकर पोल लगाता हुआ आ रहा था। स्टैंड के पास जब वे लोग पोल लगा रहे थे तो एक पक्ष ने उसका विरोध शुरू कर दिया। पहले तो पोल लगाने के नाम पर दोनों पक्षों के बीच बहसबाजी होती रही। इसके बाद दोनों पक्षों में मारपीट और पत्थरबाजी शुरू हो गई। ठेकेदार राजकुमार व कार्मिक मनोहरलाल का आरोप है कि गांव के दर्जनभर लोगों ने उन पर हमला किया है। जिसमें लाठी से मारपीट व पत्थरबाजी शामिल है। घटना में उसके सहित कुल छह कार्मिकों को चोट लगी है। जिनमें बाकी को प्राथमिक उपचार के बाद छुटटी दे गई और चार की हालत गंभीर होने पर उन्हें एसके अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
इधर, घटना में घायल हुए गांव के राजेंद्र जो कि, पेशे से वकील है। इनका आरोप है कि कार्मिक उनकी निजी जमीन पर पोल लगा रहे थे। इसके लिए उन्होंने घर की दीवार को भी तोड़ दिया था। पोल लगाने के लिए जब मना किया तो 30-40 कार्मिक उस पर उसके परिवार के सदस्यों पर टूट पड़े। जिसमें उसके परिवार के तीन लोग घायल हो गए। ठेकेदार द्वारा उसकी आंख पर मुक्का मारने से उसके चेहरे पर चोट लगी है। पुलिस को राजेंद्र ने पर्चा बयान दिया है। जिसमें ठेकेदार राजेंद्र कुमार के अलावा तीन-चार को नामजद किया गया है।


अस्पताल में जुटी भीड़
मारपीट में घायल होने के बाद सभी को एक साथ एसके अस्पताल लाया गया। इससे अस्पताल में भी दर्जनों लोगों की भीड़ जमा हो गई। इसके बाद सदर थाने की पुलिस अस्पताल पहुंची और घायलों के बयान लिए। सदर थाने में निगम के एक्सइएन शिवपाल कासनिया ने रिपोर्ट देकर नारायणलाल, भगवानाराम, रणजीत, राजेंद्र व हरलाल आदि पर जबरन काम रोकने और कार्मिकों के साथ मारपीट करने की रिपोर्ट दी है।

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned