script10101 | खास खबर: कोरोनाकाल में खूब लगी अर्जियां, बढ़ी खाटूश्यामजी की आय | Patrika News

खास खबर: कोरोनाकाल में खूब लगी अर्जियां, बढ़ी खाटूश्यामजी की आय

आपदा में भरा बाबा का खजाना : भक्त कम पहुंचे, चढ़ावे में करोड़ों की बढ़ोतरी

सीकर

Published: December 01, 2021 11:16:23 am

आशीष जोशी
सीकर. कोरोनाकाल में 'लखदातारÓ की आय में करोड़ों का इजाफा हुआ है। इस दौरान मंदी और आर्थिक संकट से उबारने के लिए लोगों ने बाबा श्याम के यहां खूब अर्जियां लगाईं। किसी ने व्यापार को पटरी पर लाने, कोरोनाकाल में हुए नुकसान की भरपाई करवाने तो किसी ने छूटी नौकरी वापस दिलवाने के लिए बाबा के दर पर मन्नत मांगी। इस दौरान भक्तों की संख्या भले कम हुई, लेकिन चढ़ावा खूब बढ़ा। लखदातार के खजाने में करोड़ों की बढ़ोतरी हुई। खाटू बाबा के भेंट पात्रों में 2020-21 में चढ़ावे की राशि सवा 25 करोड़ को पार कर गई।

इस तरह भरा खाटू बाबा का खजाना
वर्ष -- भेंट राशि (रुपए में)
2018-19 -- 14,47,14,600
2019-20 -- 22,98,48,950
2020-21 -- 25,34,32,631

3 स्थाई, 16 अस्थाई भेंट पात्र
मंदिर में 3 भेंट पात्र स्थाई रूप से लगे हैं। वहीं 16 भेंट पात्र अस्थाई हैं, जो आवश्यकतानुसार लगाए जाते हैं। पात्रों पर डबल लॉक (एक ताला विभाग का व दूसरा प्रन्यास का) की व्यवस्था है। पात्रों को विभाग की ओर से सील किया जाता है। श्री श्याम मंदिर कमेटी ट्रस्ट की ओर से इन भेंट पात्रों को खोले जाने की मांग किए जाने पर विभाग की ओर से निरीक्षक देवस्थान व राजस्व विभाग के प्रतिनिधि एवं प्रन्यासियों की उपस्थिति में पात्र खुलवाए जाते हैं। प्राप्त राशि की गणना करवा मौके पर उपस्थित बैंककर्मियों को जमा करा दी जाती है।

लगते रहे हैं अनियमितताओं के आरोप
कोरोना काल में पाबंदी के बावजूद वीआइपी दर्शन करवाने, जमीन आवंटन व देवस्थान विभाग को अंधेरे में रख मंदिर में भेंटपात्र लगाने जैसी अनियमितताओं के आरोप लगते रहे हैं। आरोपों की जांच के बाद पिछले दिनों विभाग के सहायक आयुक्त ने रिपोर्ट में मंदिर संचालन के लिए टेंपल बोर्ड गठन की सिफारिश की थी। विधानसभा में नए भेंट पात्र लगाने का मामला गूंजने के बाद विभाग ने धारा 38 के तहत मामला दर्ज किया। पहले मंदिर कमेटी ने खाटूश्यामजी मेले की वजह से पक्ष नहीं रखा। इसके बाद कोरोना की दूसरी लहर की वजह से सुनवाई नहीं हो सकी। फिलहाल मामला देवस्थान न्यायालय में विचाराधीन है।

भक्तों को इन सुविधाओं का इंतजार, ट्रस्ट करें पहल तो मिले राहत
1. निशुल्क पार्र्किंग, मिले जाम से राहत
मेले के समय पार्र्किंग सबसे बड़ी समस्या रहती है। दस साल से निशुल्क पार्र्किंग का मुद्दा गूंज रहा है। पार्किंग से मेले के समय लगने वाले जाम से निजात मिल जाएगी।
2. बननी थी रिंग रोड, बना दी लिंक रोड, 40 करोड़ खर्च
केन्द्र की कृष्णा सर्किट योजना में खाटूश्यामजी का भी चयन हुआ। कस्बे में रिंग रोड बननी थी, लेकिन कंपनी ने मनमर्जी से डीपीआर में बदलाव कर दिया। नई सड़कों से खास फायदा नहीं हुआ। ज्यादातर सड़कें ग्रामीण रूट की बनकर रह गई है।
3. सुलभ कॉम्पलेक्स व आश्रय स्थल
सुलभ कॉम्पलेक्स की कमी से भक्तों को परेशानी होती है। कृष्णा सर्किट योजना में सुलभ कॉम्पलेक्स भी काफी दूर बना दिए। मेले के समय भक्तों के ठहरने के लिए निशुल्क आश्रय स्थलों की भी कमी है।

इनका कहना है
बिना अनुमति के भेंट पात्र लगाने के मामले में धारा 38 के तहत प्रकरण दर्ज है। मंदिर कमेटी से जुड़े अन्य बिन्दुओं की रिपोर्ट भी सहायक निदेशक कार्यालय को फरवरी महीने में दे दी थी।
सुरेन्द्र कुमार, निरीक्षक, देवस्थान विभाग

खास खबर: कोरोनाकाल में खूब लगी अर्जियां, बढ़ी खाटूश्यामजी की आय
खास खबर: कोरोनाकाल में खूब लगी अर्जियां, बढ़ी खाटूश्यामजी की आय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाShivling In Gyanvapi: असदुद्दीन ओवैसी का अजीबोगरीब दावा, ज्ञानवापी में शिवलिंग नहीं, फव्वारा मिलाशिवलिंग मिलने के बाद वायरल हुआ ज्ञानवापी का वीडियों, आप खुद ही देखें क्या है सच्चाईनारी शक्ति : दूल्हे और उसके दोस्तों का हुड़दंग देखकर दुल्हन ने लौटाई बारात, दूसरे के संग लिए फेरे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.