सीकर में कोरोना रिकवरी की सेंचुरी, 74 नए संक्रमित

राजस्थान के सीकर जिले में शुक्रवार को कोरोना संक्रमित 102 मरीज स्वस्थ हुए। जो कि जिले की रिकवरी का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसी के साथ जिले में कुल स्वस्थ मरीजों का ग्राफ भी 83.04 प्रतिशत की दर से 4 हजार 402 पहुंच गया।

By: Sachin

Published: 16 Oct 2020, 08:58 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में शुक्रवार को कोरोना संक्रमित 102 मरीज स्वस्थ हुए। जो कि जिले की रिकवरी का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसी के साथ जिले में कुल स्वस्थ मरीजों का ग्राफ भी 83.04 प्रतिशत की दर से 4 हजार 402 पहुंच गया। वहीं, 74 नए संक्रमित मामले भी सामने आए। जिसके बाद कोरोना पॉजिटिव की कुल संख्या भी बढ़कर 5 हजार 301 हो गई। मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डा. अजय चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव मिले मरीजों का उपचार शुरू कर दिया गया है। प्रभावित इलाकों में सैंपलिंग, सर्वे और सैनिटाइजेशन की कवायद भी की गई है। उन्होंने बताया कि जिले में अब कुल 854 सक्रिय कोरोना मरीज है। जिनका सांवली स्थित कोविड सेंटर सहित विभिन्न जगहों पर उपचार चल रहा है।

यहां मिले कोरोना पॉजिटिव केस

मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डा. अजय चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव केस सबसे ज्यादा सीकर शहर में मिले। सीकर शहर में कुल 38 केस मिले। इसके बाद फतेहपुर में नौ, लक्ष्मणगढ़ में आठ, कूदन ब्लॉक में छह, दांतारामगढ़ में पांच, पिपराली व श्रीमाधोपुर ब्लॉक में तीन- तीन तथा नीमकाथाना ब्लॉक में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं।

479 नए सैंपल लिए
जिले के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार को कोरोना जांच के लिए 479 नए सैंपल भी लिए गए हैं। जिनकी रिपोर्ट शनिवार को आएगी। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिले में अब तक 95 हजार 897 कोरोना सैम्पल की जांच की जा चुकी है। जिनमें से 89 हजार 351 लोगों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है।

खाद्य पदार्थ के नमूने लिए
इधर, चिकित्सा विभाग की ओर से मिलावट करने वालों के खिलाफ सोमवार से शुरू किए गए शुद्ध के लिए युद्ध विशेष अभियान के तहत शुक्रवार को चिकित्सा विभाग की टीम ने श्रीमाधोपुर शहर में कार्रवाई की। इस दौरान जांच के लिए चार नमूने लिए गए। खाद्य सुरक्षा अधिकारी रतन सिंह गोदारा, मदन लाल बाजिया व उनकी टीम ने श्रीमाधोपुर शहर की नौ दुकानों पर कार्रवाई की। इस दौरान उन्होंने मिठाई दुकानदारों को निर्मित मिठाई पर बनाने की तिथि और एक्सपायरी तिथि अंकित करने के लिए पाबंद किया और गाइड लाइन के अनुसार दुकानदारों का मिठाइयों पर तिथि लिखने की जानकारी भी दी। उन्होंने बताया कि तिथि अंकित नहीं पाए जाने पर संबंधित दुकानदार व व्यापारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। चिकित्सा विभाग की टीम ने शिवशक्ति मावा पनीर, मिलन रेस्टोरेंट, राधिक स्टोर, जोधपुर स्वीट होम, गोविंद मिष्ठान भण्डार, जनता स्टोर, श्रीबालाजी दूध डेयरी, खुशी स्वीट होम, नटराज स्वीट आदि दुकानों का निरीक्षण किया। इस दौरान जांच के लिए दूध, पनीर, मावा व मावा पेड के नमूने लिए।

Corona virus

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned