राजस्थान के 50 कस्बों को जिला बनने का इंतजार, सरकार ढाई साल से कर रही विचार

प्रदेश में नया जिला बनाने की मांग कागजों में उलझी है। सरकार हाईपावर कमेटी की रिपोर्ट तैयार होने के करीब ढाई साल बाद भी फैसला नहीं कर पा रही है।

By: Sachin

Published: 28 Feb 2021, 01:55 PM IST

सीकर. प्रदेश में नया जिला बनाने की मांग कागजों में उलझी है। सरकार हाईपावर कमेटी की रिपोर्ट तैयार होने के करीब ढाई साल बाद भी फैसला नहीं कर पा रही है। प्रदेश में कांग्रेस और भाजपा दोनों ही सरकारों ने जनता और नेताओं की जिला बनाने की मांग पर ध्यान नहीं दिया। जबकि दोनों सरकारों के समय प्रदेश के करीब 50 कस्बों को जिला बनाने की मांग उठ चुकी है। इसके लिए धरने-प्रदर्शन से लेकर सीकर जिले के नीमकाथाना सहित कई कस्बों के लोगों ने तो बाजार बंद कर भी मांग रखी। राज्य सरकार के इस बजट में भी नए जिले की घोषणा नहीं की गई। राज्य सरकार को सुझाव देने के लिए सेवानिवृत आइएएस डॉ. परमेश चन्द्र की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन वर्ष 2014 में 20 जनवरी को किया गया था। समिति की ओर से वर्ष 2018 में राज्य सरकार को रिपोर्ट पेश कर दी गई थी।

सरकार का तर्क: प्रस्तावों पर मंथन जारी
प्रदेश में नया जिला बनाने की मांग सड़क से लेकर सदन तक गूंजी है। जनता ने जहां सड़क पर आंदोलन कर अपनी मांग रखी, वहीं क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने विधानसभा में भी इस मांग को उठाया है। सरकार का कहना है कि नीति, प्रशासनिक आवश्यकताओं एवं वित्तीय संसाधनों की उपलब्धताओं के आधार पर नए जिले के गठन के संबंध में निर्णय लिया जाता है। फिलहाल उच्च स्तरीय कमेटी के प्रस्तावों पर मंथन जारी है।


2008 के बाद नहीं बना कोई नया जिला
क्षेत्रफल के हिसाब से राजस्थान देश का सबसे बड़ा राज्य है। यहां पर वर्तमान में 33 जिला मुख्यालय है। अंतिम जिला वर्ष 2008 में प्रतापगढ़ को बनाया गया था। इसके बाद सरकारें कोई निर्णय नहीं ले पाई। बड़े क्षेत्रफल वाले जिलों के लोग नया जिला मुख्यालय की मांग करते हैं।


जनता की मांग के ये तर्क
- लोगों का तर्क है कि इससे गांव-कस्बों से जिला मुख्यालय की दूरी कम होगी।

- सरकारी नौकरियों के अवसर बढ़ेंगे और जिला मुख्यालय पर होने वाले कार्य जल्द होंगे।
- सरकारी योजनाओं का लाभ लोगों को जल्द मिलेगा।


शेखावाटी में यहां से है जिला बनाने की मांग
सरकार के पास पिछले 10 वर्ष में 24 जिलों के 50 कस्बों के नए जिले बनाने के प्रस्ताव व ज्ञापन आए हैं। इनमें सबसे ज्यादा नागौर से पांच, जयपुर और गंगानगर से 4-4, सीकर, पाली, अजमेर, उदयपुर व भरतपुर से 3-3 कस्बों को नया जिला बनाने की मांग की गई है। शेखावाटी अचंल की स्थिति देखे तो सीकर में नीमकाथाना, फतेहपुर शेखावाटी और श्रीमाधोपुर को जिला बनाने की मंाग की गई है। वहीं चूरू में सुजानगढ़ और रतनगढ़ को जिला बनाने की मांग उठी है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned