छुट्टी मांगने पर 50 वर्षीय कांस्टेबल को डंडों से पीटा, रखी अजीब शर्त

बूढ़ी मां के बीमार होने पर आरएसी के एक 50 वर्षीय सिपाही के साथ मारपीट का मामला सामने आया है।

By: Sachin

Updated: 27 Jun 2021, 11:27 AM IST

सीकर. बूढ़ी मां के बीमार होने पर आरएसी के एक 50 वर्षीय सिपाही के साथ मारपीट का मामला सामने आया है। सिपाही ने कंपनी कमांडर व दो हैडकांस्टेबलों के खिलाफ शहर कोतवाली में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस के अनुसार 10 आरएसी बीकानेर के बांडियाबास स्थित कैम्प में तैनात कांस्टेबल जरनैल सिंह ने मामला दर्ज करवाया है कि मां के बीमार होने पर उसने गुरुवार को उसने कांस्टेबल ईश्वर सिंह को प्रार्थना पत्र दिया। ईश्वर सिंह उसे कंपनी कमांडर छोटू सिंह के पास ले गया। आरोप है कि वहां पर कंपनी कमांडर ने जरनैल सिंह के साथ गाली-गलौच की। मना करने पर हैडकंास्टेबल दिलदार खां ने मारपीट की। कंपनी कमांडर ने डंडे से मारपीट की और नौकरी जाने का डर दिखाया। पीडि़त का मेडिकल करवाकर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

शरीर पर चोट के निशान
50 वर्षीय कांस्टेबल जरनैल सिंह ने 100 साल की बीमार मां का हाल जानने के लिए छुट्टी मांगी थी। आरोप है कि इस पर कंपनी कमांडर छोटू सिंह ने उसे बेरहमी से डंडों से पीटते हुए एक अन्य हैड कांस्टेबल से उसे थप्पड़ जड़वाए। एक हैड कांस्टेबल ने उसकी पीटी ड्रेस भी फाड़ दी। मारपीट की पुष्टि के लिए जनरैल सिंह ने पीठ पर चोट के निशान भी दिखाए। आरोप है कि इसके बाद भी कंपनी कमांडर ने जनरेैल सिंह के सामने परेड में कदम मिलाने की शर्त रख दी। जिसे पूरा करने के लिए 3 दिन तक वह 4-4 घंटे की परेड करके व मानसिक रूप से प्रताडि़त होता रहा। आरोप है कि इसके अलावा भी कमांडर ने उसे नौकरी जाने का डर दिखाया और कोतवाली में मुकदमा करने के दिन में भी उसकी अनुपस्थिति दिखा दी।

गाली गलौच का आरोप
कांस्टेबल जरनैल ने कमांडर छोटू सिंह पर गाली गलौच का आरोप भी लगाया है। पुलिस रिपोर्ट में उसने बताया कि उसने छुट्टी के लिए कांस्टेबल ईश्वर सिंह को प्रार्थना पत्र दिया तो वह उसे कंपनी कमांडर छोटू सिंह के पास ले गया। जहां छोटू सिंह छुट्टी के नाम पर गुस्से में आ गया और गाली-गलौज करने लगा। जब उसे टोका तो उसने प्रताडि़त करना शुरू कर दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned