शेखावाटी में 600 युवा जेल में बंद, 488 बलात्कार करने तो हत्या व लूट का आंकड़ा देखकर चौंक जाएंगे आप

शेखावाटी में 600 युवा जेल में बंद, 488 बलात्कार करने तो हत्या व लूट का आंकड़ा देखकर चौंक जाएंगे आप

Vinod Singh Chouhan | Publish: May, 19 2019 01:13:49 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

एजुकेशन हब होने के बावजूद शेखावाटी के युवा अपराध के दलदल में फंसते जा रहे हैं। स्थिति यह है कि सीकर, झुंझुनूं व चूरू जिले की जेलों में पहली बार 600 युवा बंदी अपने द्वारा किए गए अपराधों की सजा भुगत रहे हैं।

जोगेंद्र सिंह गौड़, सीकर.

एजुकेशन हब होने के बावजूद शेखावाटी के युवा अपराध ( crime in Shekhawati ) के दलदल में फंसते जा रहे हैं। स्थिति यह है कि सीकर, झुंझुनूं व चूरू जिले की जेलों में पहली बार 600 युवा बंदी अपने द्वारा किए गए अपराधों की सजा भुगत रहे हैं। जिन्होंने गैंगवार ( Gangwar ) व बेरोजगारी अपने सुनहरे भविष्य के बजाय लूट-खसौट व डकैती सहित हत्या व बलात्कार ( murder And rape ) करने की तरफ कदम बढ़ाकर अपने आप को मुल्जिम साबित कर दिया है। पुलिस ( Police ) व जेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शेखावाटी के तीनों बड़ी जेलों में बंद युवाओं की संख्या बाकी जेलों के बजाय काफी ज्यादा है। इनमें सीकर स्थित शिवसिंहपुरा जेल में सबसे अधिक युवा बंदी है। जिनमें हत्या के 61 व बलात्कार के 129 बंदी हैं। जबकि गैंगवार में अपना जीवन तबाह करने वाले बंदी चूरू जिले के हैं। इनमें जेल में बंद बंदियों की संख्या सबसे अधिक बताई जा रही है। झुंझुनूं जिले में सबसे अधिक बंदी बलात्कार 488 के बंद रहे। जो जुलाई 2018 से लेकर अप्रेल तक के शामिल हैं। खास बात यह है कि शेखावाटी में जेल में बंद युवाओं की उम्र 18 से लेकर 35 साल वालों की अधिक है। जिन्होंने बालिग अवस्था में कदम रखते ही बहकावे में आकर व मजबूरी में अपने आप को अपराध की सलाखों के पीछे धकेल दिया और अपने हाथों में हथियार उठा लिए थे।


हथियारों के शौकीन
आम्र्स एक्ट के तहत झुंझुनूं जेल में 30 बंदियों को रखा गया है। इसके अलावा सीकर व चूरू जिले की जेलों में बंद होने वाले कुछ युवा अपराधी ऐसे भी हैं। जिनको हथियार के साथ दूसरी बार पुलिस ने दबोचा है। इनका कहना था कि चंद समय में ज्यादा रुपए कमाने के लिए इन्होंने ऐसा किया। लेकिन, वे हथियार सप्लाई करने वाले की शक्ल नहीं पहचानते हैं।


Sikar जिले की गणित
दंडित व विचाराधीन बंदियों के अपराध के अनुसार सीकर जेल में 18 मई तक 61 बंदी हत्या, 19 लूट व डकेती, 25 चोरी 129 बलात्कार व अन्य अपराध के 64 बंदी सजा काट रहे हैं। जो कई हिस्ट्रीशीटर व गैंगस्टरों से अपने संपर्क रखते हैं।


गैंगवार हावी
चूरू की जेल में वर्तमान में 228 बंदी सजा याप्ता हैं। यहां के जेलर रघुवीर सिंह ने बताया कि इनमें 15 के करीब बंदी बुजुर्ग हैं। बाकी के सब युवा हैं जो, ज्यादातर गैंगवार के शिकार हैं। इसके अलावा वे अपराधी शामिल हैं। जो बेरोजगारी का शिकार हैं और लालच में उल्टे-सीधे धंधों में फंस गए। जिनको जेल में आने के बाद अपनी गलती का अहसास हो रहा है।


जेल में बंद ज्यादातर युवा बंदी दिगभ्रमित है। जिनको सही राय या रास्ता नहीं मिलने पर इन्होंने अपराध का सहारा लिया। वर्ततान में 298 बंदियों में ज्यादातर बलात्कार के आरोपी हैं। -नरेश कुमार, उपअधीक्षक, जिला कारागृह सीकर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned