117 दिन बाद श्याम सरकार का दीदार हुआ तो छलक आए आंसू

तीन चरणों में 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं को दर्शन कराए गए

By: Suresh

Published: 23 Jul 2021, 06:46 PM IST

खाटूश्यामजी. कोरोना की दूसरी लहर के चलते 117 दिनों बाद गुरुवार को जैसे ही लखदातार बाबा श्याम का दरबार खुला तो दर्शनों के दौरान भक्तों की आंखें श्रद्धा भाव से छलक पड़ी। गुरुवार सुबह सात बजे से दर्शनों के लिए भक्तों की कतार लग गई। मुख्य मेला ग्राउंड में बने प्रवेश द्वार पर श्री श्याम मंदिर कमेटी के सुरक्षागार्डों ने भक्तों के पंजीयन के साथ आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट या वैक्सीन की पहली डोज का प्रमाण पत्र देखकर दर्शनों के लिए प्रवेश दिया। पहला दिन होने से भक्तों की भीड़ रही। तीन चरणों में 12 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं को दर्शन कराए गए।
नयनाभिराम
बाबा श्याम का नयनाभिराम श्रृंगार किया गया। जिसमें गुलाबी व लाल गुलाब व मोगरे के फूल शामिल थे। बाबा श्याम लाल कपड़े की सुंदर पोशाक में नजर आए।
इन दिनों बंद रहेगा मंदिर
श्री श्याम मंदिर कमेटी के अध्यक्ष शंभू सिंह चौहान ने बताया कि रविवार, शुक्ल पक्ष की एकादशी व द्वादशी, त्योहार सहित भीड़भाड़ वाले उत्सवों पर मंदिर के कपाट दर्शनों के लिए बंद रहेंगे।
रौनक
कोरोना की दूसरी लहर के चलते 27 मार्च से मंदिर बंद होने के साथ ही खाटू का पूरा बाजार भी लॉक हो गया था। दुकानदारों को लाखों का नुकसान हुआ। कईयों ने व्यवयाय बदल लिया। अब बाजारों की खोई रौनक लौटने से चेहरों पर खुशी देखी गई।
श्याम मंदिर में भजनों की प्रस्तुति
सीकर. श्याम मंदिर सत्संग समिति चिरंजी पनवाड़ी की गली में स्थित श्याम मंदिर में गुरुवार दोपहर में महिलाओं ने भजनों की शानदार प्रस्तुतियां दी। इस दौरान सन्नू मोदी, सुशीला शर्मा, शकुंतला कानोडिय़ा, पुष्पा पलासरा, सरला शर्मा, ऊषा साबू, सरोज तोदी मौजूद रही। पूर्व समिति के अध्यक्ष पवन कुमार गिनोडिय़ा, कोषाध्यक्ष बृज मोहन मित्तल, प्रचार मंत्री नंद किशोर काबरा, संयुक्त मंत्री अनिल तोदी, पंडित पवन शर्मा, जयप्रकाश ऋषिका, महावीर प्रसाद शर्मा ने मंदिर की व्यवस्थाओं का अवलोकन कर आवश्यक सुधार कार्य का निर्णय लिया।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned