मारपीट में मौत के बाद ग्रामीणों ने कोतवाली के सामने रखा बुजुर्ग का शव, छह घंटे से प्रदर्शन जारी

राजस्थान के सीकर के नीमकाथाना के भगेगा के पास खाटू मेला पदयात्रियों की सेवा के लिए लगे शिविर में मोबाइल चोरी के आरोप में अपहरण के बाद पिटाई से हुई मौत के बाद मृतक मदनलाल मीणा का शव लेने से परिजनों ने इन्कार कर दिया।

By: Sachin

Published: 17 Mar 2020, 07:53 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर के नीमकाथाना के भगेगा के पास खाटू मेला पदयात्रियों की सेवा के लिए लगे शिविर में मोबाइल चोरी के आरोप में अपहरण के बाद पिटाई से हुई मौत के बाद मृतक मदनलाल मीणा का शव लेने से परिजनों ने इन्कार कर दिया। जयपुर में उपचार के दौरान सोमवार को मौत के बाद आज दोपहर को ही मदनलाल का शव घर पहुंचना था। लेकिन, इससे पहले ही परिजन व ग्रामीण नीमकाथाना कोतवाली के सामने इक_ा हो गए और आरोपियों को कड़ी सजा देने के साथ मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग के साथ धरने पर बैठ गए। इसी बीच जयपुर से पोस्टमार्टम के बाद पहुंचा मृतक का शव भी मौके पर ही रखवा लिया गया। तब से करीब छह घंटे से उनका प्रदर्शन जारी है। बतादें कि भगेगा के पास खाटू मेला पदयात्रियों की सेवा के लिए लगे शिविर में मोबाइल चोरी के आरोप में आगवाड़ी निवासी मदनलाल मीणा का 4 मार्च को कुछ लोगों ने मोबाइल चोरी का आरोप लगाकर अपरहण कर लिया था। इसके बाद वह उसे एक खंडहर में ले गए। जहां उसकी बुरी तरह पिटाई की गई। घटना में मदनलाल गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। परिजनों ने मामले में 8 मार्च को रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। मगर पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। हालांकि बाद में उच्च स्तर पर दबाव पडऩे पर घटना के आठ दस दिन बाद पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा ने भी पिटाई के वायरल हुए वीडियो पर ट्विट किया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned