शिक्षा के बाद अब चिकित्सा व पर्यटन हब बनेगा शेखावाटी, बढ़ेगा रोजगार

(After education, Sikar will now become a medical and tourism hub) सीकर. शिक्षा व सैनिकों की धरती के रूप में पहचान बना चुका सीकर अब चिकित्सा व पर्यटन हब के रूप में विकसित होगा।

By: Sachin

Updated: 25 Feb 2021, 01:59 PM IST

(After education, Sikar will now become a medical and tourism hub) सीकर. शिक्षा व सैनिकों की धरती के रूप में पहचान बना चुका सीकर अब चिकित्सा व पर्यटन हब के रूप में विकसित होगा। जिसकी उम्मीदों को राज्य सरकार के बजट से पंख लग गए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट में शेखावाटी पर्यटन सर्किट पर मुहर लगा दी है। वहीं, सीकर में आयुर्वेद, नैचुरोपैथी व योग महाविद्यालय तथा नर्सिंग महाविद्यालय के अलावा एसके अस्पताल में 300 बैड की चिकित्सीय अस्पताल भवन व 30 आईसीयू बैड की भी घोषणा की है। शेखावाटी पर्यटन सर्किट में लोहार्गल, शाकंभरी, हर्ष, जीणमाता के अलावा झुंझुनूं के नवलगढ़, डूंडलोद, मंडावा, लक्ष्मणगढ़, फतेहपुर, रामगढ़ शेखावाटी, महनसर, अलसीसर व खेतड़ी को जोड़ते हुए पर्यटन विकास होगा। जिससे विकास के साथ अंचल में रोजगार को बढ़ावा मिलेगा।

600 करोड़ के होंगे कार्य
शेखावाटी में पर्यटन व धार्मिक क्षेत्रों में 600 करोड़ से काम होंगे। यहां संसाधन बढऩे से पर्यटकों की संख्या में इजाफा होगा। इसका फायदा यहां के लोगों को मिलेगा। पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों का कहना है कि यदि सरकार दावों के मुताबिक पर्यटन क्षेत्रों में काम कराती है तो शेखावाटी के 40 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। शिक्षा के साथ पर्यटन क्षेत्र भी यहां के बेरोजगारी के दाग को धो सकेगा।


किस तरह के होंगे काम

पर्यटन सर्किट के तहत के तहत पर्यटकों के लिए सुलभ कॉम्पलेक्स, नाइट लाइटिंग, सौन्दर्यकरण, सड़क निर्माण, पेयजल सहित अन्य कार्य मुख्य तौर पर होंगे।


फिल्म निदेशकों को लुभाने की तैयारी
पिछले दिनों पर्यटन व देवस्थान राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने शेखावाटी में शूटिंग के लिए फिल्म निदेशकों की राह खोलने के लिए नई गाइडलाइन जारी की थी। शेखावाटी में पहले भी कई फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। इन क्षेत्रों के और डवलप होने से अब फिल्म निदेशक और ज्यादा शूटिंग के लिए आ सकेंगे।


छोटे धार्मिक स्थलों पर भी फोकस

सरकार ने बजट में छोटे धार्मिक स्थलों भी विकसित करने की राह दिखाई है। लक्ष्मणगढ़ के धार्मिक स्थल सांगलपति कुमास जागीर, गुलाबजति आश्रम गाडोदा, गोसाई मंदिर कटेवा, नाथ आश्रम डूडवा, भक्त शिरोमणी कर्माबाई मंदिर घस्सू में धार्मिक पर्यटक योजना के तहत विभिन्न काम होंगे।


हकीम साहब की दरगाह व खाटू को अलग से बजट
सर्वधर्म समभाव के तहत मुख्यमंत्री ने प्रदेश के 80 से अधिक धार्मिक स्थलों को 100 करोड़ रुपए की घोषणा की है। इसमें खाटूश्यामजी व हकीम साहब की दरगाह को शामिल किया गया है।

इनका कहना है:

सीकर के लिए ऐतिहासिक बजट

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी वर्गो का बजट में ध्यान रखा है। सीकर के लिहाज से ऐतिहासिक बजट है। सीकर जिले को 50 से अधिक बड़ी सौगात मिली है। इन योजनाओं का दूरगामी फायदा मिलेगा।
गोविन्द सिंह डोटासरा, शिक्षा मंत्री


हर वर्ग को मिले तोहफे

बजट में सभी वर्गो को तोहफे मिले है। सीकर के लिए भी बहुत अच्छा बजट है। कोरोना के बाद भी सरकार ने विकास के लिए इच्छा शक्ति दिखाई है।
सुभाष महरिया, पूर्व केन्द्रीय मंत्री


जनकल्याणीकारी बजट

राज्य सरकार ने बेहद ही जनकल्याणी बजट पेश किया है। धोद विधानसभा क्षेत्र को कुम्भाराम लिफ्ट पेयजल योजना की साौगात ऐतिहासिक है। धोद में रीको खुलने से रोजगार के नए अवसर बनेंगे। हर्ष पर्वत का विकास होने से पर्यटकों को फायदा मिलेगा।
परसराम मोरदिया, विधायक, धोद


अल्पसंख्यकों का मिला पूरा हक

बजट में अल्पसंख्यक समाज का सरकार ने बेहद ध्यान रखा है। फतेहपुर व सीकर में नए छात्रावास बनने से शिक्षा की डोर और मजबूत होगी। जिले को इस बजट में बहुत कुछ खास मिला है।
जीवण खां, सभापति, नगर परिषद


बजट पूरी तरह निराशाजनक

बजट सिर्फ आंकड़ों का भ्रमजाल है। कांग्रेस ने बजट के जरिए जनता को छलने का काम किया है। नवलगढ़ पुलिया फोरलेन, संभाग मुख्यालय व मिनी सचिवालय की घोषणा अभी तक अधूरी है। पर्यटन सर्किट के नाम पर जनता को गुमराह किया गया है।
इंदिरा चौधरी, जिलाध्यक्ष, भाजपा


बजट में सीकर को मिला पूरा हक

सरकार ने बजट में सीकर का बहुत ध्यान रखा है। जिन समस्याओं के समाधान को लेकर भाजपा सिर्फ दावे करती रही उनके समाधान की राह इस बजट में मिली है।
पीएस जाट, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned