पत्रिका की खबर का बड़ा असर: बंद नहीं होगा एशिया का सबसे बड़ा भेड़ प्रजनन केन्द्र

(Asia's largest sheep breeding center will not be closed) सीकर/फतेहपुर. राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर कस्बे में संचालित एशिया के सबसे बड़े भेड़ प्रजनन केन्द्र को बंद करने के आदेश जारी करने के बाद अब विभाग बैकफुट पर आया है।

By: Sachin

Published: 02 Mar 2021, 10:59 AM IST

(Asia's largest sheep breeding center will not be closed) सीकर/फतेहपुर. राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर कस्बे में संचालित एशिया के सबसे बड़े भेड़ प्रजनन केन्द्र को बंद करने के आदेश जारी करने के बाद अब विभाग बैकफुट पर आया है। राजस्थान पत्रिका की मुहिम के बाद विधायक हाकम अली खां ने लगातार सरकार से वार्ता की। सोमवार को मुख्यमंत्री से मिलकर भी प्रजनन केंद्र को चालू रखने की मांग की। इस पर मुख्यमंत्री ने पशुपालन विभाग की शासन सचिव आरूषि मलिक को पत्र पर कार्रवाई करते हुए भेड़ प्रजनन केन्द्र को बंद नहीं करने के आदेश दिए। इसके बाद विधायक हाकम अली खां ने कृषि व पशुपालन मंत्री लालचन्द कटारिया से मिलकर उन्हें भी पत्र सौंपा। इस पर कटारिया ने कहा कि आदेश वापस ले लिए जाएंगे। विधायक हाकम अली खां ने बताया कि मुख्यमंत्री से मिलकर उन्हें बताया कि यह केन्द्र क्षेत्र के हजारों लोगों से जुड़ा हुआ है। केन्द्र के पास पर्याप्त जमीन व संसाधन व स्टॉफ है। ऐसे में इसको बंद करने का कोई औचित्य नहीं है। तथा इसको अभी से ज्यादा विकसित किया जाएं ताकि क्षेत्र के पशुपालकों को लाभ मिल सके। गौरतलब है कि पशुपालन विभाग के निदेशक ने बीत सप्ताह प्रदेश के तीन केन्द्रों को 31 मार्च तक बंद करने के आदेश जारी किए थे। इसके बाद राजस्थान पत्रिका ने फतेहपुर में स्थित प्रदेश के एकमात्र भेड़ प्रजनन केन्द्र को चालू रखने के लिए मुहीम चलाई थी। केन्द्र के कर्मचारियों व क्षेत्र के ग्रामीणों ने पत्रिका की खबर के बाद विधायक हाकम अली खां से मुलाकात कर इसे चालू रखने की मांग की थी। इसके बाद विधायक ने कृषि व पशुपालन मंत्री से दूरभाष पर वार्ता करके इसे चालू रखने का आग्रह किया था। सोमवार को जयपुर जाकर विधायक ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर इसे चालू रखा जाने की मांग दोहराई। जिस पर मुख्यमंत्री ने कार्रवाई करते हुए इसे चालू रखने के अधिकारियों को निर्देश दिए।


विधायक बोले, यह पत्रिका के संघर्ष की जीत
भेड़ प्रजनन केन्द्र को बंद करने के आदेश जारी होने के बाद से ही राजस्थान पत्रिका ने सिलसिलेवार खबर प्रकाशित कर इसे बंद करने के निर्णय को उजागर किया। इसके बाद विधायक हाकम अली खां ने अपने पत्र के साथ अखबार की कटिंग लगाकर मुख्यमंत्री को पत्र दिया। पत्रिका मुहिम चलाने पर विधायक हाकम अली खां भी पत्रिका को धन्यवाद दिया व कहा कि यह पत्रिका के संघर्ष की जीत है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned