वृंदावन में भजन गाने बजाने व पूजा—पाठ करने वाले भाइयों ने प्रेमिका के पहले प्रेमी को जलाया, फिर बाइक से भागे यूपी

राजस्थान के सीकर जिले में पलासिया में शुभकरण की हत्या कर जलाने के आरोपी उत्तरप्रदेश के सहारनपुर निवासी अमित और मधुर के बारे में एक खुलासा ओर हुआ है।

By: Sachin

Updated: 24 Sep 2020, 10:55 AM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में पलासिया में शुभकरण की हत्या कर जलाने के आरोपी उत्तरप्रदेश के सहारनपुर निवासी अमित और मधुर के बारे में एक खुलासा ओर हुआ है। दोनों मथुरा- वृंदावन में भजन गाने बजाने व पाठ करने का काम भी करते थे। जबकि अमित झुंझुनूं के खेतड़ी में आश्रम बनाकर झाडफ़ूंक का काम करता था। जिसके संपर्क में ही शुभकरण की भतीजी व प्रेमिका संजू आई और अवैध संबंध स्थापित होने के बाद संजू के पहले प्रेमी को जिंदा जलाने की साजिश रचकर उसे अंजाम तक पहुंचाया गया। यह भी सामने आया है कि घटना के बाद अमित व उसका भाई मधुर बाइक से ही आश्रम पहुंच गए थे। वहां से दोनों भाई बाइक से ही झुंझुनूं से रोहतक, पानीपत होते हुए सहारनपुर में गांव पहुंच गए थे। वहां पर रूकने के बाद अमित वापस खेतड़ी में आश्रम आकर छिप गया था। उसका भाई मधुर गांव में ही रूक गया था। दादिया पुलिस की टीम बुधवार सुबह मधुर कश्यप को हिरासत में लेकर सीकर पहुंची।

चार दिन की मिली रिमांड
दादिया पुलिस ने तीनों को कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया है। दादिया थानाधिकारी ब्रिजेश सिंह तंवर ने बताया कि मधुर कश्यप पुत्र महीपाल निवासी सहारनपुर को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस की टीम उसे सुबह ही लेकर पहुंची है। उन्होंने बताया कि संजू देवी पत्नी उमेश कुमार निवासी खेतड़ी, झुंझुनूं व अमित कुमार पुत्र महीपाल निवासी अकबरपुर सहारनपुर को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। जहां से चार दिन के रिमांड पर सौंप दिया है। उन्होंने बताया कि शुभकरण के भतीजी संजू से तीन साल से अवैध संबंध थे। संजू के खेतड़ी में झाड़-फंूक के दौरान अमित से भी संबंध हो गए। दोनों शुभकरण की हत्या करने की योजना बनाई थी। पांच दिन पहले तारपुरा में शुभकरण को प्रेमिका संजू ने बेहोश कर दिया। इसके बाद पलासिया में ले जाकर जिंदा जला दिया था। अभी मृतक शुभकरण का मोबाइल व अन्य वस्तुएं बरामद नहीं हुए है। शुभकरण को बेहोश करने के बाद मोबाइल बंद कर रख लिया था। पुलिस घटना में शामिल अन्य लोगों के बारे में भी पूछताछ कर रही है।


मथुरा-वृंदावन में गाने-बजाने का काम करता था मधुर
जांच में पुलिस को पता लगा कि हत्या की पूरी योजना अमित ने ही बनाई थी। अमित केवल 12वीं पास ही है। उसका भाई मधुर बीएससी पास है। अमित पिछले दस सालों से झाड-फूंक का ही काम कर रहा है। वह खेतड़ी में पिछले तीन साल से झाड-फूंक कर रहा है। हत्या के बाद भी अमित खेतड़ी में ही छिप गया था। वहीं मधुर मथुरा-वृंदावन में गाने बजाने का काम करता है। दोनों भाई मथुरा में कार्यक्रमों में हिस्सा लेते है। इसके अलावा मधुर मंदिरों में पाठ कराने का काम करता है। अमित ने ही एक दिन पहले ही मधुर को फोन कर हत्या के बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए बुलाया था। पुलिस दोनों भाईयों का अपराधिक रिकॉर्ड मंगवा रही है।

यह था मामला
तारपुरा में बुआ के घर आए शुभकरण को खाने में प्रेमिका संजू ने नशीला पदार्थ खिलाया। इसके बाद दूसरे प्रेमी अमित व उसके भाई मधुर के साथ स्कूटी पर ले गए। पलासिया में जोहड़े में लाकर बाइक से पेट्रोल निकाल लिया। स्क्ूटी को खड़ी कर शुभकरण को नीचे पटक कर जिंदा ही जला दिया था। पड़ोस में रहने वाले लोगों ने देर रात आग की लपटों को देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस के पहुंचने तक शव अधजला हो चुका था। उसकी पहचान करना काफी मुश्किल था। पुलिस ने स्कूटी के नंबरों के आधार पर शुभकरण की पहचान की। शुभकरण शाम को खुड़ीबड़ी में गाड़ी खड़ी कर स्कूटी लेकर आया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned