छीना यूआइटी का ताज, अब कलक्टर के हाथ कमान

छीना यूआइटी का ताज, अब कलक्टर के हाथ कमान

By: Vinod Chauhan

Updated: 03 Jan 2019, 05:30 PM IST


कांग्रेस में दावेदारों की आज से मैराथन
सीकर. कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद भाजपा से यूआईटी अध्यक्ष का ताज भी छीन गया है। राज्य सरकार के आदेश के बाद यूआईटी अध्यक्ष हरिराम रणवां ने बुधवार को जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल को चार्ज सौप दिया। इस दौरान रणवां ने कलक्टर को यूआईटी की योजनाओं के बारे में जानकारी दी। इससे पहले यूआईटी का जिम्मा दो कलक्टरों के पास भी रह चुका है। एेसे में कलक्टर की चुनौती भी बढ़ गई है। नया अध्यक्ष नियुक्त नहीं होने तक कलक्टर इस पद का अतिरिक्त कार्यभार भी देखेंगे। यूआईटी की सीट रिक्त होने से अब कांग्रेस में मैराथन दौड़ शुरू हो गई है। कांग्रेस में चार नाम दौड़ में सबसे आगे है।अब हर फाइल जाएगी कलक्ट्रेट
अब तक यूआईटी अमला निर्णय में पूरी तरह सक्षम था। लेकिन अब अध्यक्ष का कार्यालय अलग होने के बाद यूआईटी प्रशासन को फाइल कलक्ट्रेट भी भेजनी होगी। एेसे में आमजन की मुसीबत थोड़ी बढ़ सकती है।
कार्यालय सबसे उपयुक्त जगह: कलक्टर
यूआईटी के कार्यवाहक अध्यक्ष नरेश कुमार ठकराल ने बताया कि यूआईटी का कार्यालय बिल्कुल उपयुक्त जगह है। कलक्टर ने बताया कि यूआईटी के पास ज्यादातर इलाका बाहरी कॉलोनियों का ही है। एेसे में यहां आने वाले लोगों के लिए कार्यालय एकदम सही क्षेत्र में है। एेसे में कार्यालय को उसी भवन से संचालित किया जाएगा।
छुटियों में संचालित तीन स्कूलों को किया पाबंद
सीकर. राज्य सरकार के शीतकालीन अवकाश में स्कूलों को बंद रखने के आदेश को नजर अंदाज करने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। २५ दिसंबर से ७ जनवरी तक सभी स्कूलों में अवकाश घोषित होने के बाद भी कई स्कूल संचालक नियमों का मखौल उड़ा रहे है। शिक्षा विभाग की टीमों ने बुधवार को भी जिलेभर में स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान तीन स्कूल बिना अनुमति के संचालित होते मिले। जिला शिक्षा अधिकारी (मुख्यालय) माध्यमिक शिक्षा ने बताया कि तीन स्कूल संचालकों को फिलहाल पाबंद किया है। इसकी पालना नहीं होने पर आगे कार्रवाई की जाएगी। टीम को शहर में शिवसिंहपुरा के ग्रामीण गल्र्स एकेडमी, अंजुमन मुस्लिम गल्र्स सीनियर सैकंडरी स्कूल सीकर, बस डिपो के पास स्थित लाल बहादुर शास्त्री उच्च माध्यमिक स्कूल बिना अनुमति के संचालित मिले। जिला प्रशासन के दबाव में आकर शिक्षा विभाग ने अब तक दो बार कार्रवाई की हैं। पहले नीमकाथाना की पांच स्कूलों को नोटिस जारी हुए थे। बुधवार को अलग-अलगबनाकर शहर की ३२ स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। इसके बाद भी व्यवस्था पटरी पर नहीं आ रही है।
कमेटी ने लिए बयान, आज पेश होगी रिपोर्ट
एसडीएम को भेजी सूची
सीकर. एसके अस्पताल के फीमेल मेडिकल वार्ड में महिला मरीज की मौत के मामले में जांच कमेटी ने बुधवार को रिपोर्ट तैयार कर ली है। कमेटी गुरुवार को जांच रिपोर्ट अस्पताल प्रबंधन को देगी। प्रारंभिक तौर पर कमेटी ने वार्ड में इंटरकॉम की कमी जताई। कमेटी को दिए बयानों में मरीज की मौत और समय को लेकर विरोधाभास आ रहा है। स्टॉफ का कहना है कि वे गंभीर मरीज को संभाले या घड़ी में समय देखे। वहीं मरीज के परिजनों के नहीं पहुंचने के कारण शव वार्ड में मरीज के बीच पड़ा रहा। इधर मरीज के परिजनों का कहना है कि अस्पताल स्टॉफ ने ऑनकॉल के पर्ची देकर भेज दिया। जबकि यह जिम्मेदारी स्टॉफ की है। अस्पताल ने घटनाक्रम के दौरान नर्सिंग स्टॉफ की सूची एसडीएम को भेज दी गई है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही दोषी के खिलाफ कार्रवाई होगी। गौरतलब है कि अस्पताल के फीमेल मेडिकल वार्ड में खंडेला क्षेत्र की एक महिला मरीज की मौत हो गई थी। जिसके परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगा हंगामा किया।

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned