किसान और मजदूरों के लिए सीटू ने भरी हुंकार, दी आंदोलन की चेतावनी

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के किशन सिंह मेमोरियल ढाका भवन में किसान सभा और खेत मजदूर यूनियन की ओर से शनिवार को सेमिनार का आयोजन किया गया।

By: Vinod Chauhan

Published: 19 Jan 2019, 06:22 PM IST

Sikar, Sikar, Rajasthan, India

 

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले के किशन सिंह मेमोरियल ढाका भवन में किसान सभा और खेत मजदूर यूनियन की ओर से शनिवार को सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में वक्ताओं ने किसानों की सम्पूर्ण कर्ज माफी करने के साथ मजदूरों का न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपए मासिक करने, 600 रुपए न्यूनतम मेहनताने के साथ मनरेगा में वर्ष में 200 दिन रोजगार देने और ठेका प्रथा बंद करने सरीखे मुद्दों को प्रमुखता से उठाया। केंद्र सरकार की ओर से श्रम कानूनों में बदलाव को भी गलत ठहराते हुए वक्ताओं ने सभी 44 श्रम कानूनों को यथावत जारी रखते हुए श्रमिक और मजदूरों के हित में नए कानून बनाने की मांग भी सरकार के सामने रखी। मांग नहीं मानने पर आंदोलन की राह पकडऩे की बात भी कही। सेमिनार को पूर्व विधायक पेमाराम और सीटू नेता हजारी प्रसाद सहित कई वक्ताओं ने संबोधित किया। इस दौरान काफी संख्या में किसान और मजदूर मौजूद रहे। बतादें कि 19 जनवरी 1982 में अखिल भारतीय हड़ताल के दौरान 10 मजदूरों की मौत हुई थी। तब से हर साल इस दिन सीटू की ओर से सेमिनार का आयोजन किया जाता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned