कोरोना: वाहनों की अनुमति लेने के लिए बोल रहे झूठ


तीन दिन में जारी किए 46 पास, 500 से ज्यादा ने किया आवेदन
राहत: अब ग्राम पंचायत स्तर पर वाट्सएप से आवेदन

Ajay Sharma

26 Mar 2020, 02:47 PM IST

सीकर. कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन के बाद सरकार ने निजी वाहनों के सडक़ों पर उतरने पर रोक लगा दी हैं। लेकिन कई लोग अपने वाहनों के अनुमति पत्र हासिल करने के लोगों के तरह-तरह के बहाने भी सामने आ रहे है। हालत यह है कि महज दो दिन में 500 से ज्यादा आवेदन आ चुके है। अब तक परिवहन विभाग की ओर से 46 अनुमति जारी की गई है। परिवहन विभाग कार्यालय में गुरुवार को अनुमति लेने का आखिरी दिन रहेगा। हालांकि बेहर जरूरी कार्य होने पर तत्काल अनुमति लिए जाने का भी प्रावधान है। प्रादेशिक परिवहन अधिकारी सतीश कुमार ने बताया कि आदेश जारी होने से लेकर अब तक करीब 500 से अधिक निजी वाहनों की अनुमति के लिए आवेदन मिले थे। लेकिन विभाग की टीम के माध्यम से अति आवश्यक वाहनों का चयन कर ही अनुमति प्रदान की जा रही है। दूसरी तरफ अति आवश्यक सेवाओं मेंं शामिल न्यायिक अधिकारी, प्रशासनिक अधिकारी, चिकित्सक, पुलिस कर्मी व मीडिया संस्थाओं सहित अन्य सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों को आवश्यक सेवा में शामिल किया है। ऐसे में इनको अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं है।

आज यह रहेंगे इंतजाम: ऑनलाइन भेज सकते है एप्लीकेशन
जिला कलक्टर यज्ञमित्र सिंह देव ने अनुमति के लिए स्थानीय स्तर पर बदलाव भी किया है। अपर जिला कलक्टर जयप्रकाश ने बताया कि ग्राम पंचायत स्तर पर फरियादी पटवारी या ग्रामसेवक को वाट्सएप या ई-मेल के जरिए आवेदन कर सकते है। इसके बाद पटवारी व ग्राम विकास अधिकारी भी संबंधित तहसीलदार व थानधिकारी कार्यालय में ईमेल व वाट्सएप के जरिए भेजेंगे। यहां से अनुमति पत्र मिलने के बाद अनुमति संबंधित आवेदक को भेजी जाएगी। शहरी क्षेत्र में एसडीएम की ओर से अनुमति जारी की जाएगी।

इन परेशानियों पर मिलेगी अनुमति
जिला प्रशासन ने तय किया है कि बेहद ही आवश्यक होने पर अनुमति जारी की जाएगी। वेवजह आवेदन करने वालों को अनुमति नहीं दी जाएगी। कलक्टर की ओर से जारी आदेश में बताया कि किराना, पेट्रोल, डीजल, गैस, राशन, दवाई, सब्जी, फल, चारा आदि के लिए अनुमति दी जाएगी।

Ajay Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned