बीमा कंपनी ने जमा करवाया फसल बीमा क्लेम के 66.33 करोड़ रुपए

बीमा कंपनी ने जमा करवाया फसल बीमा क्लेम के 66.33 करोड़ रुपए

Vishwanath Saini | Publish: Apr, 17 2018 03:09:28 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 04:01:54 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक सोमवार को कलक्टर ललित गुप्ता की अध्यक्षता में हुई


चूरू. जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक सोमवार को कलक्टर ललित गुप्ता की अध्यक्षता में हुई। बैठक में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को लेकर फसल बीमा कंपनी, किसान प्रतिनिधियों व बैंकर्स से विचार-विमर्श किया गया। इस मौके पर यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी के प्रतिनिधि ने बताया कि चूरू जिले का खरीफ 2016 का 66.33 करोड़ रुपए बीमा क्लेम किसानों के बैंक खातों में जमा करवाया गया है। शेष 27.77 करोड़ रुपए का क्लेम बैंकों को हस्तांतरित किया गया है। चूरू पंचायत समिति क्षेत्र के कृषकों को 11.40 करोड़ व तारानगर पंस क्षेत्र के कृषकों को 9.98 करोड़ रुपए का क्लेम दिया जाएगा। रबी 2016-17 के 23.95 करोड़ बीमा क्लेम की राशि बैंक शाखाओं में भिजवाया गया है।

 

 

कलक्टर ने एलबीओ को किसानों की बैंक खाता राशि उनके खातों में शीघ्र जमा करवाने के लिए बैंकों को पाबंद करने के निर्देश दिए। बीमा कंपनी के क्षेत्रीय प्रबंधक ने खरीफ 2017 का बीमा क्लेम एक महीने में दिलाने का आश्वासन दिया। किसान प्रतिनिधियों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की विसंगतियां दूर करने की तरफ ध्यानाकर्षित करवाया। उप निदेशक कृषि विस्तार डा. राजकुमार कुल्हरी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की जानकारी दी। राजगढ़ के किसान प्रतिनिधियों ने एसबीआई के शाखा प्रबंधक की ओर से रबी 2016-17 में केसीसी वाले किसानों का बीमा प्रीमियम नहीं भिजवाए जाने के बारे में बताया।

 


प्रभावित काश्तकार जमा करवाएं दस्तावेज
चूरू. चूरू तहसील क्षेत्र के फसल खरीफ 2017 में प्रभावित कृषकों को कृषि आदान-अनुदान वितरित किया जाएगा। तहसीलदार महिपाल सिंह ने बताया कि प्रभावित काश्तकार 19 अप्रैल तक सुबह साढ़े नौ से शाम छह बजे तक प्रत्येक पटवार मंडल मुख्यालय पर अपना खाता नम्बर, आधार नंबर व मोबाइल नंबर संबंधित पटवारी को जमा करवाएं। ताकि 20 अप्रैल को संपूर्ण संग्रहित डाटा राज्य सरकार के पास भिजवाया जा सके। 19 अप्रैल के बाद प्रभावित काश्तकारों से डाटा संग्रहण नहीं किया जाएगा।

 


किसानों की समस्याओं पर चर्चा
सिधमुख. सिधमुख नहर किसान संघर्ष समिति की रविवार को हुई बैठक में नहर एवं किसानों की समस्याओं पर चर्चा की गई। इस दौरान नहर के अधूरे कार्यों के निर्माण व चकबंदी, मुरबाबंदी, किलाबंदी, बारा बंदी के बारे में चर्चा की गई। अध्यक्षता हरिराम कस्वां ने की।महावीर प्रजापत ने भी विचार व्यक्त किए। समिति संयोजक अशोक जांगिड़ ने कहा कि समझौते के दौरान हुए निर्णय के अनुसार अगर तय सीमा तक अधूरे कार्यों को पूरा नहीं किया गया तो आंदोलन तेज किया जाएगा। करतार सिंह टांडी, बेगराज राजपुरोहित, गौरीशंकर, अमित छापोला सुरेश भाटिया ने चर्चा की। बैठक में खिनुराम किरोड़ीवाल, सीताराम डायमंड, प्रधान ढाका, हरिसिंह रणवा, प्रभु राम महला, रामकिशन चांदोरा मौजूद थे।

 


फसल बीमा क्लेम देने की मांग
तारानगर. गांव बांय के किसानों ने सोमवार को एसडीएम को ज्ञापन देकर उनका फसल बीमा क्लेम दिलवाने की मांग की है। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि गांव के 150 किसानों ने कॉपरेटिव बैंक तारानगर में बीमा करवा रखा है। बैंक में उनका लेन-देन सही है। किसानों का वर्ष 2015-16 व 2016-17 की बीमा क्लेम राशि बैंक में आई हुई है लेकिन बैंक यह राशि नहीं है। किसान जब बैंक शाखा प्रबंधक से सम्पर्क करते हैं तो उन्हें गुमराह कर लौटा दिया जाता है। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें बीमा क्लेम नहीं दिया गया तो वे बैंक के खिलाफ आंदोलन करेंगे। ज्ञापन देने वालों बांय सरपंच भादरसिंह प्रजापत, मोहन राजपूत, विशाल राठौड़, विनोद रायका, सहाबुद्दीन, कृष्ण अग्रवाल, देवीसिंह गैदर आदि मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned