सीकर में हवाला से पहुंच रहे हैं करोड़ों रुपए, जानिए कहां से आ रहे व कौन भेज रहा है

वर्ष 2005 के दौरान वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर में सीकर जिला प्रदेश में प्रथम रहा है। सीकर जिले में शहर सहित कस्बों में हवाला का कारोबार करने वालों की संख्या एक दर्जन से अधिक है।

Vishwanath Saini

01 Aug 2017, 11:30 AM IST

विदेशी पंूजी देश के विकास में अहम भूमिका निभाए इसके लिए सरकार ने वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर योजना शुरू की। लेकिन अब विदेशों से आने वाली धनराशि को शेखावाटी में अवैध रूप से भेजा जा रहा है। इसकी पुष्टि डाक विभाग द्वारा वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर के आंकड़े कर रहे हैं।


आंकडों के अनुसार सीकर जिले में प्रतिमाह औसतन केवल 26 लोग ही वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर का लाभ ले रहे हैं। जबकि पासपोर्ट कार्यालय के अनुसार सीकर जिले से करीब डेढ़ लाख लोग बतौर कामगार के रूप में विदेशों में कमाई कर रहे हैं और औसतन दो से तीन करोड़ रुपए महीने में हवाला के जरिए भेज रहे हैं। गौरतलब है कि वर्ष 2005 के दौरान वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर में सीकर जिला प्रदेश में प्रथम रहा है।



दस हजार पर पांच सौ



सूत्रों के अनुसार सीकर जिले में शहर सहित कस्बों में हवाला का कारोबार करने वालों की संख्या एक दर्जन से अधिक है। बड़े हवाला कारोबारियों ने अपनी जड़ें गांवों तक जमा रखी है। अरब देशों से शेखावाटी आने वाले हवाला की राशि पर प्रति दस हजार पर पांच सौ रुपए अतिरिक्त लिए जाते हैं।



कोड से होता है कारोबार


हवाला का काम करने वाले एक व्यक्ति ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि मेट्रो शहरों से संचालित इस कारोबार में एक विशेष कोड नम्बर दिया जाता है। यह कोड रुपए भेजने वाले के पास होता है। जो इसे अपने परिजन या रिश्तेदार जहां राशि की डिलीवरी होनी है बता है।


इसके बाद हवाला कारोबारी इस नम्बर को अपने स्थानीय एजेंट को देता है जो राशि की डिलीवरी करते समय जहां से संबंधित व्यक्ति तक राशि का भुगतान किया जाता है। वहीं, जिम्मेदार अधिकारी इस मामले को अभी तक हल्के में ले रहे हैं।
ऐसे समझें मामले को
विदेशों से पूंजी भेजने के लिए अधिकृत एजेंसी का इस्तेमाल करने पर पचास हजार का ही भुगतान लिया जा सकता है। इससे अधिक राशि होने पर लाभार्थी को पहचान पत्र सहित दूसरे दस्तावेज देने होते हैं। जबकि हवाला में महज कोड के जरिए कितनी भी राशि ट्रांसफर की जा सकती है।



596 लेनदेन किया गया वर्ष 2016 में वेस्टर्न मनी से
321 लेनदेन किया गया
वर्ष 2017 में वेस्टर्न मनी से, जो 2016 से काफी कम है।


वेस्टर्न यूनियन मनी ट्रांसफर से लाभान्वित होने वालों की संख्या में गिरावट आई है। कारणों की जांच कर संबंधित अधिकारी व कर्मचारियों को पाबंद किया जाएगा।
एसपी भुरानियां, डाक अधीक्षक, सीकर

vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned