डीडवाना के पावटा का दातार सिंह भी हत्थे चढ़ा, लेडी डॉन का था खास

सीकर-नागौर पुलिस ही नहीं एसओजी भी लगी तलाश में
पांच बदमाशों की पकड़ के बाद अब फिर से सुराग जुटाने में लगी पुलिस पड़ताल

By: Suresh

Published: 20 Feb 2021, 05:30 PM IST

सीकर/नागौर. लेडी डॉन अनुराधा के खास रहे दातार सिंह (30) के पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद पुलिस को मंजिल पास नजर आने लगी है। दातार सिंह समेत मय हथियार हरियाणा के बदमाश भी जयपुर पुलिस ने पकड़े है। डीडवाना के पावटा का दातार जोधपुर से पकड़ा गया। इसके चलते लेडी डॉन तक पहुंचने का रास्ता पुलिस को साफ दिखने लगा है। जयपुर की सीएसटी तो सीकर-नागौर की डीएसटी ही नहीं एसओजी तक लेडी डॉन को पकडऩे के लिए एक साथ जुट गई हैं। पिछले माह पकड़े गए लक्ष्मण सिंह को लेडी डान का बायां तो दातार सिंह को उसका दायां हाथ बताया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार कुचामन में गुरुवार को एडीजी अशोक राठौड़ की बैठक में भी लेडी डॉन की पकड़ पर फोकस किया गया था। लेडी डॉन का लिंक सीकर-नागौर से रहा। उसकी वारदात और गुर्गे भी इन्हीं जिलों के इर्द-गिर्द पनपे। ऐसे में दोनों जिलों की पुलिस टीम से भी विमर्श किया गया।
हरियाणा तक गुर्गे
सूत्रों से पता चला है कि लेडी डॉन के पुराने लगभग सारे गुर्गे सीकर-नागौर से उठा लिए गए हैं। लेडी डॉन के गुर्गे हरियाणा तक हैं, इसको देखते हुए भी पुलिस अपनी प्लानिंग बना रही है। पुलिस ने पहले गोटन थाना के पांच गुर्गों को गिरफ्तार किया था। लक्ष्मण सिंह को लेडी डॉन का खास बताया गया था, चार पर कोई मामले दर्ज नहीं थे।
नया ढंग, अजीब संकट
पुलिस को सूत्रों से पता चला है कि लेडी डॉन ऐसे युवकों को जोड़ती है जिन पर आपराधिक मामले दर्ज नहीं हों। यही नहीं इनको एडवांस रकम दी जाती है।
नए बदलाव में यह भी सामने आया कि कई नौजवान ऐसे गैंगस्टर/बदमाशों से जुडऩे के लिए तैयार रहते हैं। यहां तक कि खुद उनसे जानकारी बढ़ाने के लिए जरिया ढूंढते हैं। ऐसे में पुलिस को कई बार गफलत हो जाती है।

Suresh Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned