बेटी के ससुराल वालों ने मां से की मारपीट, अस्पताल में भर्ती

राजस्थान के सीकर शहर में जगमालपुरा फाटक के पास बेटी को लेने गई मां के साथ उसके ससुराल पक्ष द्वारा मारपीट करने का मामला सामने आया है।

By: Sachin

Published: 08 Apr 2021, 08:21 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में जगमालपुरा फाटक के पास बेटी को लेने गई मां के साथ उसके ससुराल पक्ष द्वारा मारपीट करने का मामला सामने आया है। मामले में मां ने कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। कोतवाली पुलिस के अनुसार कारीगरों का मोहल्ला निवासी आसमीन पत्नी मोहम्मद फयाज ने रिपोर्ट दी है। जिसमें बताया कि वह शाम को 4 बजे बेटी जासमीन को जगमालपुरा फाटक के पास स्थित उसके ससुराल लेने गई थी। बेटी तैयार होने लगी तो वह उसकी सास रोशनी से बात करने लगी। इसी बीच वह घरेलु कलह की बात करने लगी। इस पर आसमीन ने उससे घरेलु कलह पर सवाल पूछे तो रोशनी को उसके घर में समधन का बोलना उचित नहीं लगा और उसने विवाद शुरू कर दिया। जिसमें रोशनी की बेटी भी कूद पड़ी। आरोप है कि इसके बाद जासमीन के देवर जहीर भी विवाद मेें कूद पड़ा और उसने आसमीन के पेट में लात मार दी। इसके बाद इरफत, नफीसा और मेहरून भी झगड़े में शामिल हो गई और आसमीन से मारपीट शुरू कर दी। आरोपी उसके बालों को पकड़कर घसीटने लग गए। लात-घूसों से पीटने के साथ उसके सिर को पकड़ कर दीवार में मार दिया। जिससे उसे काफी चोटें आई। इस बीच जासमीन अपनी मां को बचाने आई तो उसके साथ भी मारपीट की गई।

अस्पताल में भर्ती हुई मां
मारपीट में आसमीन घायल हो गई। इस पर जासमीन ने अपने पिता फरयाज को फोन कर इसकी जानकारी दी। इस पर फरयाज मजदूरी छोड़ अपनी बेटी के ससुराल पहुंचा। जहां से घायल पत्नी आसमीन को लेकर अस्पताल में ले जाया गया। पीडि़त ने पुलिस थाने में बेटी के ससुराल पक्ष पर जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज करवाया है।


एक साल पहले भी मारपीट
बेटी जासमीन के साथ पहले भी ससुरालवालों द्वारा मारपीट किए जाने का आरोपी है। जासमीन ने बताया कि करीब एक साल पहले भी ससुराल पक्ष के लोगों ने उसके साथ मारपीट कर उसे घर से बाहर निकाल दिया था। जिसके बाद वह पति रिजवान के साथ अलग भी रहने लगी। लेकिन कुछ समय बाद ही लोगों की समझाइश पर वह वापस ससुराल लौट आई। लेकिन, उनकी प्रताडऩा फिर भी कम नहीं हुई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned