रात को इस खास काम के लिए घर से निकला था शव, सुबह यूं पड़ा मिला शव

रात को इस खास काम के लिए घर से निकला था शव, सुबह यूं पड़ा मिला शव

vishwanath saini | Publish: Jan, 14 2018 12:50:05 PM (IST) Sikar, Rajasthan, India

परिजनों का आरोप है कि मृतक का जब पोस्टमार्टम किया गया तो चिकित्सकों ने शीशे के जार भी उनसे बाहर से लाकर देने को कहा।

बावड़ी. सीकर जिले की ग्राम पंचायत बावड़ी के एनएच 52 पर स्थित बालाजी मार्केट के बेसमेन्ट में एक युवक विनोद का शव मिलने से गांव में सनसनी फैल गई। हालांकि शव मिलने के बाद घटना स्थल की जांच करने एफएसएल टीम करीब पांच घंटे बाद मौके पर पहुंची।

इधर, इसके बाद पोस्टमार्टम कर युवक का शव परिजनों को सौंप दिया गया। हालांकि इससे पहले रींगस डिप्टी राजेंद्र बेनीवाल व थानाधिकारी सुनील गुप्ता ने घटना स्थल का मौका मुआयना किया।

पुलिस इसे हादसा मानती रही है और परिजन मामले को संदिग्ध बता रहे थे। पुलिस के अनुसार मृतक विनोद वर्मा के चाचा केदारमल रिर्पोट दी है कि मेरा भतीजा शुक्रवार रात खेत से आवारा जानवरों को भगाने के लिए घर से निकला था। जो पूरी रात घर नहीं लोटा सुबह ग्रामीणों ने सूचना दी कि विनोद का शव एक बेसमेन्ट में पड़ा हुआ है।

रींगस के डिप्टी राजेन्द्र बेनीवाल ने बताया कि प्रथम दृष्ठया विनोद बेसमेन्ट के ऊपर बैठा हुआ था। संभावना है वह इस दौरान नीचे गिर गया होगा। जिसके कारण उसकी मौत हो गई। तलाशी लेने पर विनोद की जेब से कुछ रुपए व टूटा हुआ मोबाइल मिला। जिसको जांच के लिए कब्जे में लिया गया है।

चूरू से टीम के सदस्यों को बुलाया गया

इधर, घटना स्थल की जांच के लिए सीकर की एफएसएल टीम बीमार होने के कारण चूरू से टीम के सदस्यों को बुलाया गया। जिसका इंतजार परिजनों को भी पांच घंटे करना पड़ा। इससे पहले परिजनों ने आरोप लगाया कि रींगस के राजकीय सामुदायिक केंद्र पर जब विनोद का पोस्टमार्टम किया जा रहा था तो चिकित्सक बोले कि पहले शीशे का जार आपको बाहर से लाना होगा। जिसका परिजनों ने विरोध भी जताया।

रिपोर्ट पर टिकी पुलिस जांच
पुलिस इसे हादसे से जोड़ कर देख रही है। लेकिन, उसका कहना है कि पूरी स्थिति का पता जांच रिपोर्ट के बाद ही चल पाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned