scriptDespite the disability, the skills are being carved, PM Modi has also | दिव्यांगता के बावजूद तराश रहे हुनर, पीएम मोदी भी दे चुके हैं दाद | Patrika News

दिव्यांगता के बावजूद तराश रहे हुनर, पीएम मोदी भी दे चुके हैं दाद

यदि मन में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो मुसीबत भी खुद राह से हट जाती है। यह साबित कर दिखाया है सीकर जिले के मौल्यासी गांव निवासी पेरा खिलाड़ी महेश नेहरा ने।

सीकर

Published: February 27, 2022 06:10:54 pm

सीकर. यदि मन में कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो मुसीबत भी खुद राह से हट जाती है। यह साबित कर दिखाया है सीकर जिले के मौल्यासी गांव निवासी पेरा खिलाड़ी महेश नेहरा ने। वर्ष 2002 में Mahesh Nehra पुणे में एक हादसे में अपना हाथ खो बैठे थे। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और खेलों में कॅरियर बनाने में जुट गए। नतीजतन 20 साल के खेल कॅरियर में उन्होंने राष्ट्रीय व अन्तराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में कई पदक जीत राजस्थान का मान बढ़ाया। इस दौरान वे सीकर सहित अन्य जिलों के पेरा खिलाडिय़ों को तराशने में भी जुट गए। बेहतरीन खेल कौशल के दम पर वह खुद के साथ कई पेरा खिलाडिय़ों को भी नौकरी की मंजिल तक पहुंचा चुके हैं। फिलहाल वह माउंट एवरेस्ट को फतह करने के प्रशिक्षण में जुटे हैं। कई खिलाडिय़ों को अपने खर्च पर भी आगे बढ़ा चुके हैं। इसके लिए राज्य सरकार सहित कई सामाजिक संगठनों की ओर से उनको सम्मान भी मिल चुका है। नेहरा एथलेटिक्स के अलावा वॉलीबॉल, तलवारबाजी, बैडमिंटन, शूटिंग, ताईक्वाण्डो प्रतियोगिताओं में भी पदक जीत चुके हैं।

दिव्यांगता के बावजूद तराश रहे हुनर, पीएम मोदी भी दे चुके हैं दाद
दिव्यांगता के बावजूद तराश रहे हुनर, पीएम मोदी भी दे चुके हैं दाद

तमगा जीतने का बना चुके शतक

दिव्यांग खिलाड़ी व शिक्षक महेश नेहरा दौड़ में सामान्य खिलाडिय़ों को भी पीछे छोड़ते हुए मैदान पर उन्हें टक्कर देते हैं। नेहरा एक बार सामान्य शिक्षकों की खेल प्रतियोगिता में तमगा भी जीत चुके हैं। वह अब तक जिला, राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर खेलकर करीब सौ मेडल अपनी झोली में डाल चुके हैं। इनमें कई गोल्ड व सिल्वर मेडल शामिल हैं। उन्होंने 2010 में चीन में एशियन गेम में शामिल होकर सीकर का मान बढ़ाया था।


पहले खेलने से रोका, जीते तो जोरदार स्वागत
वर्ष 2009 में मोहनलाल सुखाडिय़ा विवि से पढ़ाई के दौरान महेश नेहरा को वहां की खेल चयन समिति ने हाथ की दिव्यांगता की वजह से खेलने से रोक दिया। इस पर नेहरा ने शपथ पत्र पेश कर कहा कि यदि खेल के दौरान कोई हादसा होता है तो वह स्वयं जिम्मेदार होगा। इसके बाद खेलने की अनुमति मिली। उन्होंने तीसरा स्थान जीता तो पूरे विवि प्रशासन ने जोरदार स्वागत भी किया।


तैयार कर दी पैरा खिलाडिय़ों की फौज
वह खिलाडिय़ों के साथ खुद घंटों अभ्यास कर उनको तराशने में जुटे हैं। सीकर निवासी खिलाड़ी साबरमल बावरिया को खेलों का काफी जुनून था लेकिन अभावों की वजह से आगे नहीं बढ़ पा रहा था। नेहरा ने आर्थिक सम्बल देकर आगे बढ़ाया तो बावरिया ने कई पदक जीते। इसके अलावा सुमन ढाका भी 20 से अधिक पदक जीत चुकी है। पिछले दिनों सरकार ने उनको सीधे सार्वजनिक निर्माण विभाग में नियुक्ति भी दी है। वहीं संजू सिंघाना, संदीप खींवासर, महेंद्र कुमार, अजय कुमार, निधि, अनिल चौधरी, नीतू सिंह, पूजा सीमार, मुनिया सुमन, ज्योति कुमारी, जीवनी, ऋषि राज राठौड़, भगवानाराम, उर्मिला, चंदन वर्मा, राजेश गुर्जर, मुकेश गुर्जर, रमेश कुमार यादव, हरजीराम, दातार, वीरेंद्र...ऐसी बहुत लम्बी फेहरिस्त है। इनमें से आधे से ज्यादा को सरकारी नौकरी भी मिल चुकी है।


पीएम मोदी भी कर चुके सराहना

PM Narendra Modi ने पिछले साल सितम्बर में मन की बात कार्यक्रम में देशभर के दिव्यांगों के जज्बे की सराहना की थी। इसमें उन्होंने सबसे पहले सीकर के महेश नेहरा का नाम लेकर उनके हौसले को बढ़ाया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.