Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का मंजर

Vinod Singh Chouhan | Publish: May, 18 2019 11:35:52 AM (IST) | Updated: May, 18 2019 05:45:34 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

Thunderstorm in Rajasthan : प्रदेश में अंधड और तूफान की चेतावनी के बाद शुक्रवार शाम को शेखावाटी अंचल में आंधी और तूफान ने जमकर तबाही मचाई।

सीकर.

प्रदेश में अंधड और तूफान ( Thunderstorm in Rajasthan ) की चेतावनी के बाद शुक्रवार शाम को शेखावाटी अंचल में आंधी और तूफान ने जमकर तबाही मचाई। Sikar में शाम करीब साढ़े पांच मौसम ( Weather Change ) का मिजाज बिगड़ा और तेज हवाएं शुरू हो गई। 40 से 50 किलोमीटर की रफ्तार से चली हवाओं के कारण लोग दहशत में आ गए। अचानक आए तूफान के कारण जो जहां था वहीं थम गया। करीब 10 मिनट तक आए अधंड़ के कारण बड़े पेड़ जड़ से उखड़ गए। पेड़ों से मोटी-मोटी टहनियां टूट गई। कच्ची दीवार गिर गई। सैंकड़ों बिजली के पोल टूट गए। टीन शेड और तिरपाल उड़ कर कई सौ मीटर दूर जाकर गिरे। पक्षियों के आशियाने उजड़ गए। शहर की बिजली आपूर्ति ठप हो गई। इसके बाद सीकर शहर, दांतारामगढ, पलसाना, खाटूश्यामजी, श्रीमाधोपुर, लक्ष्मणगढ, रींगस में बारिश का दौर शुरू हो गया। बारिश शुरू होने से अंधड़ की रफ्तार पर कुछ हद तक लगाम लगी। रिमझिम बरसात का दौर देर तक जारी रहा।

 

Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का खौफनाक मंजर

सब्जियां तबाह, पेड़ों से गिरे फल
दक्षिण दिशा से उत्तर दिशा की तरफ गए तूफान से सीकर जिले के बेरी, दादिया, कोलिड़ा, तारपुरा, कटराथल सहित कई गांवों में सब्जियों का भारी नुकसान हुआ। मंडप खेती के लिए लगे शेड हवाओं से नीचे गिर गए। पशुओं के बाड़े से टीनशेड उड़ गए। आम, नींबू, बील, के पेड़ों से फल नीचे गिर गए। रोहिड़ा व सागवान जैसे भारी पेड़ धराशाई हो गए। क्षेत्र के किसानों ने बताया कि पिछले पांच वर्ष से क्षेत्र में मई माह में इतना भयंकर तूफान नहीं आया है। इसके अलावा झुंझुनूं जिले के कई इलाकों में भी भारी नुकसान की सूचना है।


20 मिनट तक जान सांसत में
शुक्रवार को अधंड़ के कारण करीब 20 मिनट तक लोगों की जान सांसत में रही। इस दौरान बड़े पेड़ उखडऩे और हाइ मास्ट लाइट के खंभे भी हिलने लगे। सिल्वर जुबली रोड पर पेड़ टूट गया। एसके अस्पताल के बाहर पानी भर गया। लोगों ने बताया कि बरसों बाद मई माह में जिले में इतना भीषण अंधड़ आया है। मकानों पर लगे टीनशेड उडकऱ पेडों पर जाकर टंग गए।

Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का खौफनाक मंजर

जगह-जगह भरा पानी
तेज बारिश का दौर करीब 30 मिनट तक चला। इससे जगह-जगह पानी भर गया। नालियों का कचरा सडक़ों पर बहने लगा। बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई। चूरू का अधिकतम तापमान 34.9, न्यूनतम तापमान 20.5 डिग्री व फतेहपुर में अधिकतम तापमान 35 डिग्री और न्यूनतम तापमान 22.5 डिग्री रहा। पिलानी में अधिकतम तापमान 35.2 और न्यूनतम तापमान 25 डिग्री दर्ज किया गया। चूरू में शुक्रवार साढ़े आठ बजे तक 14.8 डिग्री बारिश दर्ज की गई।

Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का खौफनाक मंजर

Storm in Sikar अंधड़ से निगम को 20 लाख से अधिक का नुकसान
गुरूवार देर शाम जिलेभर में आए तेज अधंड़ से ब्लैक आऊट हो गया। तेज अधंड़ से 110 से अधिक बिजली पोल धराशायी हो गए। अधंड़ का दौर शुरू होते ही जिलेभर में विद्युत सप्लाई बंद हो गई। इस कारण लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। निगम अभियंताओं का अनुमान है कि अधंड़ से 20 लाख से अधिक का नुकसान हुआ है। गुरुवार देर रात अधंड़ की वजह से 25 से अधिक गांव-ढाणियों में गुल हुई बिजली सप्लाई शुक्रवार सुबह नौ बजे तक शुरू हुई। सीकर शहर में भी सर्किट हाउस क्षेत्र में विद्युत लाइन के उपर बिजली पोल गिरने से लगभग तीन घंटे जयपुर रोड इलाके में सप्लाई गुल रही। शुक्रवार को आए अधंड़ की वजह से दो से छह घंटे तक सप्लाई प्रभावित रही। लगभग 28 गांव-ढाणियों में विद्युत सप्लाई शनिवार सुबह तक शुरू होगी।

Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का खौफनाक मंजर

ऐसे समझे गणित
कितने पोल गिरे: 110 से अधिक
नुकसान: लगभग 40 लाख
लाइन फाल्ट: 197 स्थान
सप्लाई प्रभावित: 620 से अधिक
कितने घंटे: 2 से 6-5 घंटे

Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का खौफनाक मंजर

रातभर गुल: 28 गांव-ढाणी
अधंड़ से जिलेभर में 110 से अधिक बिजली पोल टूटे है। निगम को लगभग 20 लाख रुपए का नुकसान हुआ है। 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई शनिवार सुबह 12 बजे तक शुरू होगी। -विद्याद्यर सिंह, अधीक्षण अभियंता, अजमेर डिस्कॉम, सीकर


इन गांवों में रातभर अंधेरा
खंडेला कस्बे में गुरुवार रात बरसिंहपुरा तिराहे, गुरारा, बरसिंहपुरा, गौरियां, गोविन्दपुरा में नौ पोल टूट गए थे। रात भर अंधेरे में रहने के बाद शुक्रवार दोपहर को पोलों को दुरस्त कराया गया कि शाम को फिर लाइन बाधित हो गई।

Thunderstorm: पेड़-खंभे एक झटके में धरायाशी, 28 से अधिक गांव-ढाणियों में सप्लाई बाधित, तस्वीरों में देखे तबाही का खौफनाक मंजर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned