scriptElectricity crisis increased in Sikar | बिजली संकट: पानी के लिए मचा हाहाकार, कुओं, नलों व चक्की पर लगी लंबी कतार | Patrika News

बिजली संकट: पानी के लिए मचा हाहाकार, कुओं, नलों व चक्की पर लगी लंबी कतार

सीकर. आग उगलते पारे के बीच बिजली संकट ने गांवढाणियों से लेकर शहर के लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। शेखावाटी के गांवढाणियों में पिछले तीन दिन से 10 से 15 घंटे तक बिजली गुल रही है।

सीकर

Published: April 29, 2022 08:15:17 pm

देवेन्द्र शर्मा ‘शास्त्री’/ अजय शर्मा

सीकर. आग उगलते पारे के बीच बिजली संकट ने गांवढाणियों से लेकर शहर के लोगों की मुसीबत बढ़ा दी है। शेखावाटी के गांवढाणियों में पिछले तीन दिन से 10 से 15 घंटे तक बिजली गुल रही है। लोगों के सूखे हलक भी तर नहीं हो पा रहे हैं। दिन व रात के समय बिजली गुल होने से बच्चों के हाल बेहाल है। पत्रिका टीम बिजली कटौती के दर्द को जानने के लिए कई गांवों में पहुंची। यहां गांव के लोग पेड़ों की छांव में बैठकर सरकारी सिस्टम को कोसते नजर आए। लोगों ने कहा कि सरकार को जब पहले से कोयला संकट के बारे में पता था तो फिर इंतजाम क्यों नहीं किए गए? सबसे ज्यादा दर्द श्रीमाधोपुर इलाके में सामने आया। यहां बिजली संकट से पहले लोगों को 96 घंटे में एक बार पानी मिल रहा था, लेकिन अब क्षेत्र में 120 घंटे में एक बार पानी की आपूर्ति हो रही है। इसी तरह खंडेला व दांतारामगढ़ इलाके में भी पानी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। गांवों में मोबाइल चार्ज करने तक में परेशानी आ रही है। गेहूं पिसवाने के लिए चक्की पर लबा इंतजार करना पड़ रहा है।

बिजली संकट: पानी के लिए मचा हाहाकार, कुओं, नलों व चक्की पर लगी लंबी कतार
बिजली संकट: पानी के लिए मचा हाहाकार, कुओं, नलों व चक्की पर लगी लंबी कतार

रसीदपुरा गांव: ऐसे तो जल जाएगी सब्जियां

दोपहर दो बजे का समय। गांव के बस स्टैण्ड पर सन्नाटा पसरा हुआ। चौपाल से लेकर खेत में एक ही चर्चा कि कब बिजली संकट दूर होगा। गांव में टीम किसान मुकन्दाराम फेनिन के घर पहुंची। किसान का कहना था कि फसल तो हो चुकी, लेकिन बिजली पूरी नहीं मिलने से सब्जियों के जलने का खतरा बना हुआ है। यदि दो दिन में स्थिति नहीं सुधरी तो नुकसान हो जाएगा।

धोद: शादियों में कैसे सप्लाई करेंगे रसगुल्ले, फैक्ट्री में उत्पादन ठप

गांव के मुकेश कुड़ी ने बताया कि रसगुल्ले की फैक्ट्री में बिजली कटौती की वजह से काम ठप है। शादियों के सीजन में काफी ऑर्डर है। यदि व्यवस्था नहीं सुधरी तो काफी आर्थिक नुकसान होगा। गांव के नेमीचंद बाजिया ने बताया कि उनकी प्लास्टिक के पाइप बनाने की फैक्ट्री है। पिछले चार दिन से उत्पादन ठप है। प्रहलाद पारीक ने बताया कि इलाके में कई आइसक्रीम की फैक्ट्री है। यहां भी बिजली कटौती की वजह से काफी नुकसान हो रहा है।

इधर पहल: बिजली निगम एसई का संकल्प... संकट दूर होने तक बंद रखेंगे कूलरएसी

बिजली संकट से निपटने में आमजन और अधिकारी भी अपना योगदान दे सकते हैं। सीकर विद्युत निगम के अधीक्षण अभियंता नरेन्द्र गढ़वाल ने सीकर कार्यालय से इसकी पहल की है। उन्होंने अपने कक्ष में बिजली संकट दूर नहीं होने तक कूलर व एसी नहीं चलाने का फैसला लिया है। उन्होंने सीकर जिले की जनता से भी बिजली संरक्षण में सहभागी बनने का आह्वान किया है। जानकारों का कहना है कि सीकर जिले की जनता यदि मिलकर ऐसी पहल करें तो आसानी से रोजाना तीन लाख यूनिट बिजली बचाई जा सकती है। इससे 50 से अधिक गांवढाणियों की बिजली व्यवस्था बेहतर हो सकती है।

पेयजल: दांता और श्रीमाधोपुर में टैंकर सप्लाई का इंतजार

दांतारामगढ़ और श्रीमाधोपुर में अभी तक टैंकर सप्लाई शुरू नहीं हो सकी। जबकि इन क्षेत्रों में सबसे ज्यादा पेयजल समस्या है। वहीं खंडेला और नीमकाथाना में टैंकर सप्लाई शुरू हो चुकी है। खंडेला शहर में चार टैंकर 20 ट्रिप और ग्रामीण क्षेत्र के 38 गांव और 35 ढाणियों में 25 टैंकर 144 ट्रिप करने का दावा किया गया है। नीमकाथाना में 20 गांव और 77 ढाणियों में 19 टैंकर 99 ट्रिप करने का दावा है।

उद्योग: 550 करोड़ के उद्योग प्रभावित

बिजली संकट से अकेले सीकर जिले में 550 करोड़ का कारोबार प्रभावित होने की आशंका है। सबसे ज्यादा असर सीकर, नीमकाथाना, अजीतगढ़ आदि क्षेत्रों की औद्योगिक इकाइयों में नजर आ रहा है। बिजली निगम की ओर से गुरुवार से जिलेभर में औद्योगिक लोड को भी 50 फीसदी तक कम कर दिया गया है।

इधर सियासत मार रही करंट: माकपा नेता बोले कटौती बंद नहीं तो करेंगे घेराव

बिजली कटौती को लेकर सियायत करंट मारने लगी है। माकपा नेताओं ने जिला कलक्टर व विद्युत निगम के एसई को शिकायत दी है। बताया कि बिजली कटौती से ग्रामीण क्षेत्रों में 10 से 18 घंटे तक सप्लाई प्रभावित हो रही है। माकपा नेता किशन पारीक ने कहा कि जल्द राज्य सरकार व्यवस्था नहीं सुधार सकी तो जिले के सभी सहायक अभियंता कार्यालयों का घेराव किया जाएगा। वहीं रालोपा प्रवक्ता सांवरमल मुवाल ने इस मामले में राज्य सरकार को विफल बताया है।

आगे क्या: अभी राहत की उमीद नहीं

लगातार कोयले की कमी की वजह से आगामी दो दिनों में राहत की उमीद नहीं है। जिमेदारों का दावा है कि कृषि फीडरों की सप्लाई का समय कम करने के साथ रात को सप्लाई देने से व्यवस्था जल्द पटरी पर आ जाएगी।

संकट का साइड इफैक्ट: इनवर्टर व सोलर पंखों की बढ़ी रेट

बिजली संकट की वजह से जिले में अचानक इनवर्टर की डिमांड बढऩे के साथ रेट भी दो से तीन हजार तक बढ़ गई है। सोलर पंखों की रेट भी अचानक 400 से 500 रुपए बढ़ा दिए हैं।

बिजली बर्बाद करने वालों को टोकें, तभी संकट से निपटेंगे: कलक्टर

कोयला संकट की वजह से सीकर जिले में भी बिजली कटौती हो रही है। इस संकट के दौर में बिजली संरक्षण की दिशा में पहल करनी होगी। जब भी आप कार्यालय या अपने घर से निकले तो स्विच ऑफ कर निकले। कलक्ट्रेट परिसर में बिजली संरक्षण को लेकर सभी को पाबंद किया है। आमजन को भी ऊर्जा संरक्षण की मिसाल पेश करनी होगी। सभी साथ देंगे तो इस संकट से जल्द निपटा जा सकेगा। बिजली बर्बाद करने वालों को रोकनाटोकना भी होगा।

(जैसा जिला कलक्टर अविचल चतुर्वेदी ने पत्रिका को बताया)

श्रीमाधोपुर. यहां पेयजल सप्लाई की व्यवस्था पहले से बिगड़ी हुई है। एक सप्ताह से समस्या और बढ़ गई है। पहले कस्बे में तीनचार दिन से पेयजल सप्लाई हो रहा था, अब 120 घंटों से पानी सप्लाई हो रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में राशन से लंबी कतार पानी के लिए लग रही है। लोग 43 डिग्री पारे में भी आधे से एक किलोमीटर सफर तय कर पेयजल टंकियों तक पहुंच रहे हैं। बिजली कटौती की वजह से ज्यादातर टंकी व उच्च जलाशय भी पूरे नहीं भर पा रहे हैं।

ऐसे समझें आंकड़ों का गणित

सीकर में उपभोक्ता: 6.75 लाख

इस समय बिजली चाहिए: 125 लाख यूनिट प्रतिदिन

हमें बिजली मिल रही: 80 से 85 लाख यूनिट प्रतिदिन

पिछले साल के मुकाबले बढ़ोतरी: 28 से 35 फीसदी

सीकर जिले में घोषित कटौती: 2 से 6 घंटे

अघोषित बिजली कटौती: 4 से 7 घंटे

जिले में कारोबार प्रभावित: 550 करोड़

रात में सप्लाई से किसान प्रभावित: 78 लाख

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवMaharashtr: नासिक में 'सूफी बाबा' ख्वाजा सैय्यद चिश्ती की हत्या, सिर में मारी गई गोली, अफगानिस्तान से था नाताKaali Poster Controversy: कानाडा के म्यूजियम ने हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने पर मांगी माफी, नहीं दिखाई जाएगी फिल्म2024 के आम चुनाव से पहले आधार कार्ड से लिंक होगी मतदाता सूची, फार्म- 6बी भरकर करना होगा जमासीएम बनने के बाद जब पहली बार घर पहुंचे एकनाथ शिंदे, पत्नी ने खुद ढोल बजाकर किया स्वागत, वायरल हुआ VIDEOकोलकाता में मुस्लिम युवाओं ने पेश की नजीर, पुराने शिव मंदिर का किया पुनर्निर्माण, क्राउड फंडिंग कर जुटाया पैसाDomestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेदिल्ली सरकार का बड़ा फैसला! फूड डिलीवरी से लेकर कैब सर्विस तक, हर काम में इस्तेमाल होंगे केवल Electric Vehicles
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.