scriptEven after death here in Rajasthan, farmers are not getting the benefi | राजस्थान में यहां मौत के बाद भी किसानों को नहीं मिल रहा सहकार का लाभ | Patrika News

राजस्थान में यहां मौत के बाद भी किसानों को नहीं मिल रहा सहकार का लाभ

बीमित किसान से प्रीमियम के रूप में राशि तो वसूल ली गई लेकिन जब क्लेम देने की बारी आई तो बीमा कंपनी का कहना है कि संबंधित किसान की बीमा पॉलिसी नहीं बन पाई या संबंधित किसान का प्रीमियम देरी से पहुंचा। इस कारण किसान क्लेम का हकदार नहीं है। कंपनी की ओर से किसान को प्रीमियम की राशि लौटा दी जाएगी।

सीकर

Published: July 28, 2022 11:34:09 am

सहकारिता को बढ़ावा देने के लिए बीमा कंपनी की ओर से किए गए दावे किसानों के लिए छलावा साबित हो रहे हैं। सीकर जिले में सहकारी बैंक ब्याज मुक्त फसली लोन लेने वाले 211 बीमित किसानों की मौत के बाद भी परिजनों को क्लेम के रूप में करीब ढाई करोड़ रुपए का मुआवजा नहीं मिल सका है। सहकार जीवन सुरक्षा बीमा योजना के तहत कंपनी ने किसानों ने प्रीमियम तो वसूल लिया लेकिन अब क्लेम नहीं दिया जा रहा है। कई किसानों की लोन की राशि तीन से दस लाख रुपए तक है। ऐसे में परिजन मुआवजे के लिए सहकारी बैंक और बीमा कंपनी के चक्कर लगा रहे हैं।
राजस्थान में यहां मौत के बाद भी किसानों को नहीं मिल रहा सहकार का लाभ
राजस्थान में यहां मौत के बाद भी किसानों को नहीं मिल रहा सहकार का लाभ
नहीं मिल रहा नया लोन

बीमित किसान की जमीन बैंक के रहन होने से परिजन उस जमीन पर दूसरा नया लोन भी नहीं ले पा रहे हैं। बैंक प्रबंधन की ओर से बीमा कंपनी को प्रदेश स्तर पर सूचित किया जा चुका है। इसके बावजूद उसी बीमा कंपनी के जरिए ही प्रदेश स्तर पर किसानों को बीमित किया जा रहा है। सीकर केन्द्रीय सहकारी बैंक जिले में रबी और खरीफ सीजन में करीब एक लाख किसानों को ब्याज मुक्त लोन उपलब्ध करवाता है।

यह है योजना

सहकारी बैंक से लोन लेते समय सदस्य किसान का सहकार जीवन सुरक्षा बीमा योजना में बीमा किया जाता है। बीमा करवाने वाले किसान की लोन चुकाने से पहले किसी कारणवश मौत हो जाती है तो किसान के परिजन से उस बकाया लोन को नहीं लिया जाता है। योजना के तहत पूर्व में लोन लेने वाले किसान का दस लाख रुपए तक और फिलहाल तीन लाख रुपए का क्लेम माफ हो जाता है।
यूं कर रहे टालमटोल

बीमित किसान से प्रीमियम के रूप में राशि तो वसूल ली गई लेकिन जब क्लेम देने की बारी आई तो बीमा कंपनी का कहना है कि संबंधित किसान की बीमा पॉलिसी नहीं बन पाई या संबंधित किसान का प्रीमियम देरी से पहुंचा। इस कारण किसान क्लेम का हकदार नहीं है। ऐसे में कंपनी की ओर से किसान को प्रीमियम की राशि लौटा दी जाएगी। बैंक प्रबंधन का कहना है कि बीमा कंपनी जानबूझकर क्लेम निस्तारित नहीं कर रही है। जब बीमा पॉलिसी ही नही बनी तो किसान या बैंक को उस समय सूचित करना चाहिए था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Cabinet Expansion Live Updates: तेजस्वी के पास सड़क, स्वास्थ्य व नगर विकास विभाग, तेज बने वन व पर्यावरण मंत्रीकौन होगा बिहार का नेता प्रतिपक्ष: जेपी नड्डा की मौजूदगी में दिल्ली में बैठक, इन मुद्दों पर भी होगी चर्चागुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका, 6 MLA बीजेपी में हो सकते हैं शामिलTarget Killing In Kashmir: 'मोदी सरकार कश्मीरी पंडितों की हिफाजत करने में हुई फेल', AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसीJammu-Kashmir: शोपियां में नाम पूछकर आतंकियों ने कश्मीरी पंडितों पर बरसाईं गोलियां, एक की मौत, लश्कर फ्रंट ने ली जिम्मेदारीJammu-Kashmir: पहलगाम में 39 ITBP जवानों को ले जा रही बस खाई में गिरी, 7 जवान शहीद, अमित शाह ने जताया दुखKejriwal Press Conference: केजरीवाल ने बताया कैसे बनेगा देश का हर गरीब अमीर, इन 4 बड़े कामों पर दिया जोरMumbai Rains: मुंबई और ठाणे में सुबह से हो रही तेज बारिश, कई जगहों पर जलभराव, जानें- लोकल ट्रेन और बेस्ट बस की स्थिति
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.