पूर्व सीएम राजे सीकर आईं, चाय पी, चिप्स खाए और हार की अनूठी वजह जानकर चौंक गई

Rajasthan EX CM वसुंधरा राजे ने नेताओं व कार्यकर्ताओं से पूछा कि फतेहपुर की सीट भाजपा कैसे हारी ? इस दौरान नेताओं ने अपने अलग-अलग तर्क दिए।

By: vishwanath saini

Updated: 19 Dec 2018, 03:49 PM IST

सीकर/फतेहपुर.

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 सम्पन्न हो गए। नए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने सोमवार को जयपुर में पद की शपथ ली। राजस्थान की 15वीं विधानसभा की नई सरकार के शपथग्रहण समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी शिरकत की। इसके बाद पूर्व सीएम राजे शेखावाटी के दौरे पर रवाना हो गईं। सबसे पहले राजे चूरू जिले के रतनगढ़ तहसील के गांव भींचरी में शहीद किशन सिंह राजपूत के घर गईं और उनके परिजनों को ढांढ़स बंधाया।

 

शिमला-कश्मीर नहीं... राजस्थान के सीकर का है यह नजारा, पारा मानइस 3.5 डिग्री, देखें तस्वीरें

 


यहां से वापस जयपुर जाते समय कुछ समय के लिए फतेहपुर व सीकर रुकी। फतेहपुर में मयूर होटल में कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात की इस दौरान वसुंधरा राजे ने फतेहपुर सीट के बारे में फीडबैक भी लिया। उन्होंने नेताओं व कार्यकर्ताओं से पूछा कि फतेहपुर की सीट भाजपा कैसे हारी ? इस दौरान नेताओं ने अपने अलग-अलग तर्क दिए।

प्रत्याशी सुनीता जाखड़ के पिता भागीरथ जाखड़ ने कहा कि फतेहपुर से मुस्लिम समुदाय के बहुत लोग खाड़ी देशों में रहते हैं। उनके फर्जी वोट डाले गए। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय ने लगभग 10000 वोट फर्जी डाले। इससे चुनाव हार गए।

इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जानकारी उन तक क्यों नहीं पहुचाई गई। उन्होंने कहा कि उन्हें यह जानकारी होती तो कुछ व्यवस्था की जाती। इस दौरान संगठन के कुछ व्यक्तियों से भी राजे ने हार का कारण पूछा।

इस पर देहात अध्यक्ष ने कहा कि जाट समुदाय के वोट भी कांग्रेस को डाले गए। ऐसे में पार्टी की हार हुईं। इस दौरान संगठन के कई नेताओं ने कहा कि हम 20 हजार वोट से चुनाव जीते माने बैठे थे। ऐसे में अंतिम दो दिन का मैनेजमेंट नहीं कर पाएं।

पूर्व मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि भाजपा कई सीट कम अंतर से हारी हैं। जनता का मन भाजपा के साथ है। उन्होंने ने कार्यकर्ताओं से कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए तैयारी में लग जाएं।

इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ चूरू विधायक राजेंद्र राठौड़, रतनगढ़ विधायक अभिनेष महर्षि साथ रहे। इस दौरान विकास भास्कर, बजरंग सिंह शेखावत, रतन महर्षि, राजेंद्र कड़वासरा सहित कई मौजूद रहे।

Shaheed Kishan Singh rajput

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व विधायक राजेन्द्र राठौड़ सोमवार शाम करीब चार बजे शहीद किशनसिंह राजपूत के घर भींचरी पहुंचकर पत्नी व परिजनों को सांत्वना दी। राजे ने शहीद के चित्र पर पुष्प अर्पित कर शहीद वीरांगना संतोष कंवर से मुलाकात की। संतोष कंवर चमक कर उठी और बोली कि बाबू के पापा आ गए क्या? राजे ने प्रत्युत्तर दिया हां वो भी आ गए मैं भी आ गई। वीरांगना संतोष कंवर वापस बोली क्या आपां सीकर में मकान बणास्यां, तो जवाब में वसुंधरा राजे ने कहा कि हां बिल्कुल बनाएंगे। इसके बाद संतोष कंवर फिर बेहोश हो गई

Show More
vishwanath saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned