परीक्षा की फर्जी सूचना वायरल, शिक्षा मंत्री ने किया ट्वीट से स्पष्ट

लॉकडाउन की वजह से प्रदेशभर में स्थगित हो चुकी है परीक्षाएं

By: Ajay

Updated: 30 Mar 2020, 05:34 PM IST

सीकर. कोरोना वायरस के बीच रविवार को सोशल मीडिया पर बोर्ड परीक्षाओं को लेकर फर्जी सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। शिक्षा राज्य मंत्री तक भी यह फर्जी सूचना पहुंच गई। इस पर शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने इस सूचना के गलत होने की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट में बताया कि राजस्थान में अभी परीक्षाओं को लेकर कोई निर्णय नहीं हुआ है। गौरतलब है कि पिछले केन्द्रीय विद्यालयों को लेकर आदेश जारी हुआ था। इस आदेश को आधार बनाकर किसी ने सोशल मीडिया पर सूचना वायरल कर दी। इस वजह से दिनभर विद्यार्थियों, अभिभावकों व स्कूल संचालकों में संशय की स्थिति बनी रही। मंत्री के ट्वीट के बाद स्थिति साफ हो सकी। प्रदेश में लॉकडाउन की वजह से बोर्ड व विश्वविद्यालय परीक्षाओं के साथ स्कूली परीक्षाएं भी स्थगित हो चुकी है। प्रदेश में जल्द कक्षा एक से आठवीं तक के विद्यार्थियों को प्रमोट करने को लेकर भी कोई निर्णय होने की आस है।
कोरोना वायरस के संक्रमण और लॉकडाउन के चलते बोर्ड समेत सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। फिलहाल बोर्ड के परीक्षार्थियों को घर में रहकर ही शेष रहे पेपरों के अध्ययन की सलाह दी गई है। राजस्थान बोर्ड की परीक्षा में 10वीं और 12वीं में इस बार कुल 20.50 परीक्षार्थी पंजीकृत किए गए हैं। इनमें 10वीं के 11.35 लाख और 12वीं के 8.67 लाख विद्यार्थी हैं। बोर्ड की दसवीं कक्षा की परीक्षाएं 12 मार्च से शुरू हुई थी और 24 मार्च को पूरी होने वाली थी। जबकि कक्षा 12वीं की परीक्षाएं 5 मार्च से शुरू हो गई थी और 3 अप्रैल को पूरी होने वाली थी। बोर्ड ने शेष रही परीक्षाओं को स्थगित कर दिया था। वरिष्ठ उपाध्याय, प्रवेशिका और व्यावसायिक परीक्षा के स्टूडेंट्स भी आगे की परीक्षाओं की तिथियों के ऐलान का इंतजार कर रहे हैं। वरिष्ठ उपाध्याय में 3,847, प्रवेशिका में 6,972 और व्यवसायिक परीक्षा में 42,989 स्टूडेंट्स पंजीकृत हैं।

Ajay Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned