पिता रोज कब्रिस्तान में करता था इंतजार, 23 दिन बाद कब्र से बाहर निकला शव

राजस्थान के सीकर शहर के पिपराली रोड पर अपार्टमेंट की छत से गिरे अल्ताफ की मौत के मामले में प्रशासन ने आज 23वें दिन उसका शव मोहल्ला कारीगरान स्थित बड़ा कब्रिस्तान से वापस बाहर निकाला।

By: Sachin

Published: 16 Oct 2020, 02:26 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर के पिपराली रोड पर अपार्टमेंट की छत से गिरे अल्ताफ की मौत के मामले में प्रशासन ने आज 23वें दिन उसका शव मोहल्ला कारीगरान स्थित बड़ा कब्रिस्तान से वापस बाहर निकाला। जहां मेडिकल बोर्ड ने परिजनों व दो गवाहों की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम किया। इसके बाद उसे फिर दफना दिया गया। इस दौरान कब्र को चारों ओर से पर्दे से ढककर कार्यवाही की गई। घटनाक्रम का पूरा वीडियो भी बनाया गया। मौके पर एसडीएम गरीमा लाटा, तहसीलदार रजनी यादव और उद्योग नगर थानाधिकारी पवन कुमार चौबे मौजूद रहे। कब्र से फिर से शव निकालने को लेकर इस दौरान पूरे कारीगरान मोहल्ले में गहमागहमी का माहौल रहा। प्रशासन की टीम को देख एकबारगी लोगों की भीड़ भी जुटना शुरू हो गई। जिन्हें घटना स्थल से दूर किया गया। प्रशासन की कार्यवाही के दौरान मीडिया को भी निश्चित दूरी पर रखा गया।

ये है मामला

नेहरू पार्क के पास रहने वाले अल्ताफ की 23 सितंबर को पिपराली रोड स्थित सूर्या नगर के एक अपार्टमेंट की छत से गिरने पर मौत हो गई थी। जिसे परिजनों ने हत्या बताते हुए जांच की मांग की थी। मृतक के पिता मोहम्मद सनाजुद्दीन व मां बेगम बानो का आरोप था कि उसका बेटा अल्ताफ ठेकेदार मुंशी खां से मजदूरी के पैसे मांगने गया था। जहां ठेकेदार और उसके साथी असलम ने मारपीट कर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद बिना पोस्टमार्टम किए बिना ही उसका शव भी दफना दिया गया। जिसे लेकर परिजनों में खासा आक्रोश था।

देा दिन पहले मां ने लगाई थी गुहार

दो दिन पहले भी मां बेगम बानो ने कलेक्टर व एसपी से मामले में गुहार लगाई थी। जहां मां ने दोनों को ज्ञापन सौंपकर मामले में जल्द कार्रवाई कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। आरोप लगाया था कि अल्ताफ को ठेकेदारों ने रुपयों के लेन देन में काम करने के बहाने बुलाकर उसकी हत्या की है। उसके पोस्टमार्टम भी जानबूझकर रुकवाने की कोशिश के साथ आरोपी परिवार को भी जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।

पिता कब्र पर करता इंतजार
अल्ताफ की मौत के मामले में हत्या का एंगल आने के बाद से ही पिता कब्रिस्तान में बेटे के इंसाफ के लिए उसके पोस्टमार्टम का इंतजार कर रहा था। वह रोजाना बेटे की कब्र पर जाकर पुलिस का इंतजार करता। लेकिन, 20 दिन तक पुलिस व मेडिकल बोर्ड वहां नहीं पहुंचा। इस पर मृतक की मां ने दो दिन पहले फिर प्रशासन से गुहार लगाकर कार्रवाई को जल्दी आगे बढ़ाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned