नौकरी पर नहीं रखा तो हमला कर लिया बदला, चार गिरफ्तार

राजस्थान के सीकर के अजीतगढ़ में त्रिवेणी टोल प्लाजा पर शुक्रवार को 20 घंटे में दो बार हुई मारपीट, तोडफ़ोड़, आगजनी व डकैती (sikar ajeetgarh triveni toll plaza attack case) के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

By: Sachin

Published: 19 Jan 2021, 02:19 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर के अजीतगढ़ में त्रिवेणी टोल प्लाजा पर शुक्रवार को 20 घंटे में दो बार हुई मारपीट, तोडफ़ोड़, आगजनी व डकैती (sikar ajeetgarh triveni toll plaza attack case) के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात को टोल के ही पुराने कर्मचारी ने बदला लेने के लिए अपने साथियों के साथ अंजाम दिया था। पुलिस ने घटना में काम ली गई एसयूवी को भी जप्त कर लिया गया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। नीमकाथाना अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रतन लाल भार्गव व उप पुलिस अधीक्षक गिरधारी लाल शर्मा ने बताया कि आरोपी अजीतगढ़ निवासी सुमित पारीक व बलोड जमवारामगढ़ निवासी ताराचंद गुर्जर को जयपुर में कालवाड़ रोड स्थित सुशांत सिटी तथा बावरियों की ढाणी सुराणा मनोहरपुरा निवासी कमलेश बावरिया को वारदात में काम ली गई एसयूवी सहित दौसा के सिकंदरा से गिरफ्तार किया गया है। वहीं, चंदवाजी के चक मनोहरपुरा निवासी ललित वर्मा को भी पुलिस ने गिरफ्त में ले लिया है। गिरफ्तार आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि अजीतगढ़ थाना प्रभारी सवाई सिंह की अगुआई में सात सदस्यीय पुलिस टीम ने तीन दिन में ये उपलब्धि हासिल की है। गौरतलब है कि मामले में तीन आरोपियों को पुलिस ने पहले दिन जबकि चौथे आरोपी ललित वर्मा को टोल प्लाजा पर वारदात के समय ही गिरफ्तार कर लिया था।

जिंदा जलाने की हुई थी कोशिश
त्रिवेणी टोल प्लाजा पर 15 जनवरी को अल सुबह ही गाड़ी में सवार होकर आए बदमाशों द्वारा मारपीट, तोडफ़ोड़ व आगजनी के साथ सुपरवाइजर जगदीप जाट को जिंदा जलाने की कोशिश का मामला सामने आया था। मामले में सुपरवाइजन जगदीप जाट ने अजीतगढ़ पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें ताराचंद गुर्जर,,रघुवीर उर्फ रघु गुर्जर पर उपद्रव का आरोप लगाया था। रिपोर्ट में टीसी कर्मचारी दीपक पर पिस्तौल तानकर बदमाशों द्वारा बूथ तथा ऑफिस से दो लाख रुपए लूटने व कर्मचारियों के मोबाइल छीन ले जाने की बात भी लिखी थी। जिसके आधार पर पुलिस ने जांच शुरू ही की थी कि रात को फिर टोल प्लाजा पर हमला हो गया। जिसके बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी थी।

बदला लेने के लिए हमला
थानाधिकारी सवाई सिंह ने बताया कि घटना को टोल के ही पूर्व कर्मचारी रघुवीर उर्फ रघु गुर्जर ने बदला लेने के लिए अंजाम दिया था। उसे करीब डेढ महीने पहले ही रुपयोंं के लेने देन को लेकर हुए विवाद के चलते नौकरी से हटा दिया गया था। इसके बाद से वह लगातार टोल संचालकों से वापस नौकरी पर रखने की मांग कर रहा था। जिसे सफलता नहीं मिली। इस पर गुस्साए रघु ने बदला लेने के लिए अपने साथियों के साथ टोल पर उपद्रव कर लूट की योजना बनाई।


इनकी रही अहम भूमिका
आरोपियों को गिरफ्तार करने में अजीतगढ़ थाना प्रभारी सवाई सिंह, कांवट चौकी प्रभारी बलवीर सिंह, कांस्टेबल देशराज, राकेश, कृष्ण कुमार, जितेंद्र कुमार व मुंशी सिंह की अहम भूमिका रही। पुलिस ने बाकी आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned