पांचवे दिन फिर लौटा कोरोना, चार नए मरीज मिले

राजस्थान के सीकर शहर में कोराना पांचवे दिन वापस लौट आया। जिले में शुक्रवार को कारोना के चार नए मरीज मिले। जिसके बाद जिले में कोरोना के सक्रीय मरीजों की संख्या बढ़कर 9 हो गई।

By: Sachin

Published: 30 Jul 2021, 10:32 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर शहर में कोराना पांचवे दिन वापस लौट आया। जिले में शुक्रवार को कारोना के चार नए मरीज मिले। जिसके बाद जिले में कोरोना के सक्रीय मरीजों की संख्या बढ़कर 9 हो गई। मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डा. अशोक चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को दांतारामगढ़ ब्लॉक में तीन तथा लक्ष्मणगढ़ में कोरोना का एक नया मरीज मिला है। जिनके उपचार के साथ संपर्क में आए लोगों की सैंपलिंग की कवायद शुरू कर दी है। गौरतलब है कि जिले में 26 जुलाई से नए कोरोना संक्रमितों की संख्या लगतार शून्य चल रही थी। लेकिन, शुक्रवार को अचानक चार मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ गई है।


अब तक 30 हजार 974 पॉजिटिव, 335 की मौत
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि जिले में 1 मार्च से लेकर अब तक कोरोना जांच के लिए 1 लाख 32 हजार 905 सैम्पल लिए गए। इनमें से 21 हजार 513 कोरोना संक्रमित रोगी मिले हैं। जबकि 1 लाख 10 हजार 441 सैम्पल की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं,
अब तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो विभाग की ओर से गत वर्ष से लेकर अब तक 2 लाख 89 हजार 839 सैम्पल की जांच की गई है। इनमें से 30 हजार 974 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। जबकि 335 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। कुल मरीजों में से 30 हजार 630 स्वस्थ हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना जांच के लिए शुक्रवार को जिलेभर में 2 हजार 158 सैम्पल लिए गए।

कल यहां होगा वैक्सीनेशन
कोरोना वैक्सीन की कमी की वजह से सीकर में शनिवार को भी सीमित वैक्सीनेशन होगा। सीएमएचओ ने बताया कि शनिवार को एसके स्कूल व युपीएचसी स्वास्थ्य भवन सीएमएचओ कार्यालय के पास झुंझुनूं बाईपास रोड़ पर 18+ व 45 + को कोवेक्सिन की दूसरी डोज लगेगी।

 

6 घण्टे में 10 सांपों को रेस्क्यू किया

लक्ष्मणगढ़. क्षेत्र में बारिश के मौसम के चलते लोगो के घरों में सांप निकलने का सिलसिला बढ़ गया है। भोजन की तलाश में सांप लोगों के घरों तक पहुंच जाते हैं। इसी बीच कस्बे में राजस्थान वाइल्डलाइफ एंड नेचर सोसाइटी के सचिव एवं मिशन स्नेक बाईट डेथ फ्री इंडिया के सदस्य कैलाशचंद सैनी ने अपनी टीम के साथ गुरुवार शाम 5 बजे से रात्रि 11 बजे तक 6 घंटे में ही अलग-अलग स्थानों पर मिले 10 सांपों को पकड़कर जंगल में छोड़ा। 8 जहरीले कोबरा सांप एवं 2 विषहीन ग्लॉसी बिल्ड रेसर सांप थे। सैनी की टीम में बुद्धिप्रकाश सैनी, शशि खंडेलवाल, पंकज वर्मा, ताराचंद, सुनील चौधरी तथा जालिम सिंह शामिल हैं। सर्परक्षक सैनी ने बताया कि बारिश के मौसम में ही सांपो का प्रजनन काल होता हैं, इसलिये भी लोगो को सांप नजर आ जाते हैं। नष्ट होते प्राकृतिक आवास तथा भोजन की कमी के चलते भी सांप लोगों के घरों तक पहुंच रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned