3.50 लाख रुपए में नेवी में नौकरी लगाने के नाम पर ठगी, ऑफिसर बनकर यूं लिया झांसे में

Vinod Singh Chouhan | Updated: 06 Jul 2019, 06:00:14 PM (IST) Sikar, Sikar, Rajasthan, India

Fraud on The Name of Navy Job : फर्जी नेवी अधिकारी बनकर शिक्षित बेरोजगार से साढे़ तीन लाख की ठगी का मामला सामने आया है।

धोद.

Fraud on The Name of navy Job : फर्जी नेवी अधिकारी ( Fake Navy Officer ) बनकर शिक्षित बेरोजगार से साढे़ तीन लाख की ठगी का मामला सामने आया है। जिसमें युवक को मर्चेंट नेवी में इलेक्ट्रीशियन की स्थाई नौकरी दिलाने के नाम का झांसा दिया गया और इसके बाद मुंबई में एक जगह प्लेटफार्म पर किचन की सफाई तथा कर्मचारियों का खाना सप्लाई करने के काम पर लगा दिया गया। ठगी का पता लगने पर पीडि़त युवक ने जब संबंधितों से अपने रुपए वापस मांगे तो उसको डरा-धमका कर घर भेज दिया गया। जिसकी शिकायत पीडि़त ने धोद थाने में दर्ज कराई है। जिसकी जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है।


टाटनवां निवासी रविकांत शर्मा ने उसके साथ साढे़ तीन लाख रुपए की ठगी होने का मुकदमा दर्ज कराया है। पीडि़त युवक का कहना है कि उसने इलेक्ट्रीशियन ट्रेड से आइटीआइ कोर्स पास कर रखा है और काफी दिनों से रोजगार की तलाश में था। इस दौरान उसको गांव के ही भंवरलाल ने बताया कि शोल्या का बास निवासी उसका एक दोस्त मुकेश है। जो कि, मर्चेंट नेवी में नौकरी करता है। जिसकी अधिकारियों से सांठगांठ है और वह उसकी नौकरी विदेश में शिप पर इलेक्ट्रीशियन के तौर पर लगा देगा।

भंवरलाल अपने दोस्त मुकेश, नरेंद्र तथा अशोक को लेकर उसके घर पहुंचा। अशोक ने अपने आप को नेवी में अफसर बताया। इसके बाद चारों ने नौकरी व महीने के ३० हजार रुपए दिलाने का झांसा दिया और इसके बदले में साढे़ तीन लाख रुपए मांगे। पीडि़त ने इनके बताए खातों में साढे़ तीन लाख रुपए जमा भी करा दिए। इसके बाद भंवरलाल उसको मुंबई लेकर गया। यहां मुकेश और अशोक ने रविकांत को एक कंपनी के प्लेटफार्म पर ड्यूटी पर लगा दिया। इलेक्ट्रीशियन की नौकरी नहीं कराकर किचन की सफाई और कर्मचारियों को खाना सप्लाई के काम पर लगा दिया।


इसके बाद दोनों रविकांत को जामनगर ले गए और दो लाख 20 हजार रुपए और मांगे। दो माह ड्यूटी कराकर 29696 रुपए ही दिए। पीडि़त ने जब साढ़े तीन लाख रुपए मांगे तो पहले तो टरकाते रहे और बाद में साफ तौर पर मना कर दिया गया।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned