पहले दिन ही शुरू हो गई तबादला एक्सप्रेस


कलक्ट्रेट में दिनभर चर्चाओं का दौर

By: Vinod Chauhan

Published: 18 Dec 2018, 07:05 PM IST


सीकर. कांग्रेस के सरकार संभालते ही प्रदेश में तबादला एक्सपे्रस शुरू हो गई है। कलक्ट्रेट में सोमवार को दिनभर तबादलों को लेकर चर्चाओं का दौर जारी रहा। मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह के बाद ही कई विभागों में दस से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों के तबादले हो गए।
इसी सप्ताह बडे़ स्तर पर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कर्मचारियों की तबादला सूची भी आने की संभावना है। जिले में दस पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों का जिले से बाहर जाना तय माना जा रहा है। पहले ही दिन दस से अधिक अधिकारी-कर्मचारियों के तबादले भी हो गए।
अब फिर नेताओं के घर मेला
सत्ता परिवर्तन के बाद प्रदेश में फिर से नेताओं के घर तबादला कराने वालों का मेला लगने लगा है। नेताओं के जिले में नहीं होने के कारण कई अधिकरी-कर्मचारी तो नेताओं के जयपुर स्थित आवास पर ही पहुंच रहे है। वहीं कई फिर से पुराने प्रस्तावों का पता करने के लिए सचिवालय पहुंच रहे है।
आचार संहिता से पहले घर पहुंचने की जुगत
लोकसभा चुनाव के लिए प्रदेश में मार्च तक आचार संहिता लग जाएगी। एेसे में अधिकारी-कर्मचारी इस समय में कैसे भी तबादला कराकर घर वापसी की जुगत में है। सूत्रों की माने तो कई विभागों की इसी सप्ताह में तबादला सूची आने की चर्चा के बाद डिजायर कराने वालों की भी भीड़ लगी हुई है।
आचार संहिता में अटके तबादलों पर ब्रेक
प्रदेश में आचार संहिता के फेर में भी कई विभागों की तबादला सूची अटक गई थी। एेसे में कर्मचारी उन सूचियों को भी हरी झंडी दिलाने के लिए भी भागदौड़ कर रहे हैं। लेकिन सूत्रों का कहना है कि पुरानी सूचियों पर मुहर अब मंत्रीमण्डल के बाद ही लगेगी।
कर्जा माफी पर टिकी रही निगाह
कांग्रेस के कर्जा माफी की घोषणा के बाद शेखावाटी के किसानों की निगाह सरकार के फैसलों पर टिकी रही। जैसे ही अन्य राज्यों के कर्जा माफी के समाचार सोशल मीडिय पर वायरल हुए तो यहां के किसानों की भी उम्मीद जगी। किसानों को प्रदेश में सरकार के कर्जा माफी के पैटर्न का इंतजार है। किसानों का कहना है कि सरकार को एक मुश्त कर्जा माफी करनी चाहिए। वहीं कुछ किसानों का कहना है सहकारी समितियों के साथ अन्य बैंकों से कर्जा लेने वाले किसानों को भी राहत मिलनी चाहिए। यहां के विधायकों ने भी इस मामले में सरकार को पक्ष बताया है।

Vinod Chauhan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned